ताज़ा खबर
 

आइटीओ बस पड़ाव से मुफ्त वाईफाई की शुरुआत

सरकार की योजना के मुताबिक दिल्ली के चार हजार बस स्टॉप पर वाईफाई हॉटस्पॉट्स लगाए जाएंगे। इसके अतिरिक्त सात हजार अन्य जगहों को भी इस सेवा के लिए चिह्नित किया गया है।

दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल। (फाइल फोटोः पीटीआई)

अब दिल्ली वाले मुफ्त वाईफाई सेवा का प्रयोग कर सकेंगे। गुरुवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आइटीओ बस स्टॉप से मुफ्त वाईफार्ई सेवा की शुरुआत की। मुख्यमंत्री ने इस सेवा के जरिए उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस से बातचीत की। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली दुनिया का पहला शहर है जहां पर मुफ्त वाईफाई की सुविधा उपलब्ध है। आइटीओ से दिल्ली सरकार ने 109 हॉटस्पॉट की शुरुआत की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस पहल से दिल्ली को मार्डन वर्ल्ड क्लास शहर बनाने में मदद मिलेगी। देर शाम तक सभी 109 हॉटस्पॉट चालू कर दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि अब दिल्ली के विभिन्न इलाकों में 500 हॉटस्पॉट लगाए जाएंगे। सरकार की योजना के मुताबिक आने वाले छह माह में 11 हजार हॉटस्पॉट लगाने का कार्य खत्म किया जाएगा। सरकार की योजना के मुताबिक आम जनता को हर 500 मीटर दूरी पर मुफ्त वाईफाई की सुविधा उपलब्ध होगी। एक अनुमान के मुताबिक 11 हजार हॉटस्पॉट लग जाने के बाद एक समय में 22 लाख लोग एक साथ मुफ्त वाईफाई का इस्तेमाल कर सकेंगे। दिल्ली सरकार एक उपभोक्ता को प्रतिमाह 15 जीबी डाटा मुफ्त देगी।

सरकार की योजना के मुताबिक दिल्ली के चार हजार बस स्टॉप पर वाईफाई हॉटस्पॉट्स लगाए जाएंगे। इसके अतिरिक्त सात हजार अन्य जगहों को भी इस सेवा के लिए चिह्नित किया गया है। इनमें स्थानीय नागरिक संगठन, बाजार व अन्य स्थान हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें खुशी है कि शायद भारत के इतिहास में यह पहली सरकार होगी, जिसने चुनाव में जितने वादे किए थे, उन सभी को पूरा किया है। यह आखिरी वादा था, इसे भी दिल्ली सरकार ने पूरा किया है।

रेंज बदलने पर भी नहीं टूटेगा वाईफाई इंटरनेट कनेक्शन
एक हॉटस्पॉट पर 150 से 200 लोग इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर हम औसतन 200 यूजर माने और 11 हजार हॉटस्पॉट्स माने तो 22 लाख उपभोक्ता एक साथ इंटरनेट का इस्तेमाल कर पाएंगे। हॉटस्पॉट्स को आसानी से इस्तेमाल करने के लिए एक ऐप बनाया गया है। इस ऐप को जारी कर दिया जाएगा। उस ऐप के जरिए उपभोक्ता को अपनी केवाइसी का विवरण भरना होगा। केवाइसी भरने के बाद उपभोक्ता के फोन में ओटीपी आएगा। ओटीपी डालने के बाद इंटरनेट का कनेक्शन चालू हो जाएगा। एक सप्ताह तक अपने हॉटस्पॉट्स के जोन से निकल कर दूसरे के जोन में जाते हैं, तो इंटरनेट डिस्कनेक्ट नहीं होगा, बल्कि दूसरे हॉटस्पॉट्स में जाकर कनेक्ट हो जाएगा। पहले फेज में 11 हजार हॉट स्पॉट्स लगाए जा रहे हैं।

Next Stories
1 दिल्ली में CAA के खिलाफ जबर्दस्त प्रदर्शन, Airtel के चेयमैन बोले- सरकार से आदेश मिलने के बाद बंद की मोबाइल इंटरेनट सर्विस
ये पढ़ा क्या?
X