ताज़ा खबर
 

न्याय की राहः जम्मू कश्मीर हाई कोर्ट को मिली पहली महिला जज, गीता मित्तल 90 साल में पहली महिला मुख्य न्यायाधीश

जम्मू कश्मीर हाई कोर्ट में पिछले 90 साल में पहली बार महिला जजों की नियक्ति की गई है। न्यायमूर्ति गीता मित्तल को शनिवार को जम्मू कश्मीर हाई कोर्ट का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया जबकि सिंधु शर्मा पहली महिला न्यायाधीश बनी हैं।

Author नई दिल्ली, 4 अगस्त। | August 5, 2018 4:08 AM
जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट को पिछले 90 साल में पहली महिला जज मिली हैं।

जम्मू कश्मीर हाई कोर्ट में पिछले 90 साल में पहली बार महिला जजों की नियक्ति की गई है। न्यायमूर्ति गीता मित्तल को शनिवार को जम्मू कश्मीर हाई कोर्ट का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया जबकि सिंधु शर्मा पहली महिला न्यायाधीश बनी हैं। न्यायमूर्ति गीता मित्तल अब तक दिल्ली हाई कोर्ट की कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश थीं। इससे पहले शुक्रवार को न्यायमूर्ति सिंधु शर्मा जम्मू कश्मीर हाई कोर्ट की पहली महिला जज बनीं थीं। राज्यपाल एनएन वोहरा के इन दोनों जजों को सोमवार को शपथ दिलाने की संभावना है।

दोनों की नियुक्तियों का वारंट जारी होने के साथ ही जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट को पिछले 90 साल में पहली महिला जज मिली हैं। जज बनाई गर्इं सिंधु शर्मा इस समय भारत की सहायक महाधिवक्ता हैं। वे जम्मू-कश्मीर की पहली महिला वकील हैं, जो हाई कोर्ट की जज बन रही हैं। जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट की स्थापना वर्ष 1928 में हुई थी। इस दौरान हाई कोर्ट के 107 जज रहे, लेकिन इनमें कभी कोई महिला शामिल नहीं रही। कानून मंत्रालय द्वारा जारी अधिसूचना में इन नियुक्तियों की जानकारी दी गई है। अधिसूचना के मुताबिक, पटना हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश राजेंद्र मेनन को दिल्ली हाई कोर्ट का नया मुख्य जज नियुक्त किया गया है। गुजरात हाई कोर्ट के न्यायमूर्ति एमके शाह को पदोन्नति देकर पटना हाई कोर्ट का मुख्य जज बनाया गया है।

राजस्थान हाईकोर्ट के जज न्यायमूर्ति कल्पेश सत्येंद्र झवेरी को पदोन्नति देकर ओड़ीशा हाई कोर्ट का मुख्य जज न्यायाधीश नियुक्त किया गया है। उन्होंने न्यायमूर्ति विनीत सरन की जगह ली है। कलकत्ता हाई कोर्ट के न्यायमूर्ति अनिरुद्ध बोस को पदोन्नति देकर झारखंड हाई कोर्ट का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया है। बंबई हाई कोर्ट की जज न्यायमूर्ति विजया के ताहिलरमानी को पदोन्नत कर मद्रास हाई कोर्ट का मुख्य जज बनाया गया है। केरल हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति ऋषिकेश राय को पदोन्नत कर मुख्य जज बनाया गया है।

न्यायमूर्ति इंदिरा बनर्जी समेत सुप्रीम कोर्ट में तीन नए जज

न्यायमूर्ति इंदिरा बनर्जी समेत तीन जजों की सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति का वारंट जारी कर दिया गया। इसी के साथ सुप्रीम कोर्ट में न्यायाधीशों की कुल संख्या 25 हो गई। मद्रास हाई कोर्ट की मुख्य न्यायाधीश इंदिरा बनर्जी, उत्तराखंड हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश केएम जोसफ, और ओड़ीशा हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश विनीत सरन की सुप्रीम कोर्ट में नियुक्ति की अधिसूचना शनिवार को जारी की गई। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार रात उनकी नियुक्तियों के वारंट पर हस्ताक्षर किए।

न्यायमूर्ति बनर्जी सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में आठवीं महिला जज हैं। वे पांच फरवरी, 2002 को कलकत्ता हाई कोर्ट की जज बनीं और आठ अगस्त, 2016 को उनका दिल्ली हाई कोर्ट में तबादला कर दिया गया था। उन्हें पांच अप्रैल, 2017 को पदोन्नत कर मद्रास हाई कोर्ट का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया। वे देश में हाई कोर्ट के न्यायाधीशों की वरिष्ठता के क्रम में चौथे स्थान पर आती हैं। न्यायमूर्ति सरन को 14 फरवरी, 2002 को इलाहाबाद हाई कोर्ट में न्यायाधीश नियुक्त किया गया था और 16 फरवरी, 2015 को उनका कर्नाटक हाई कोर्ट में तबादला कर दिया गया था। उन्हें 26 फरवरी, 2016 को ओड़ीशा हाई कोर्ट का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया थ। वे न्यायमूर्ति सरन वरिष्ठता के क्रम में पांचवें स्थान पर आते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App