ताज़ा खबर
 

फर्जी डिग्री मामला: डूसू के पूर्व अध्यक्ष की बढ़ीं मुश्किलें, डीयू ने अंकिव बसोया के खिलाफ दर्ज कराई एफआईआर

अंकिव बसोया के खिलाफ मॉरिस नगर पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 420, 468 और 471 के तहत मामला दर्ज किया गया। एबीवीपी ने आरोपों की जांच पूरी होने तक बसोया को संगठन से निलंबित कर दिया था।

Author Updated: November 21, 2018 12:44 PM
दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (डूसू) के पूर्व अध्यक्ष अंकिव बसोया की फाइल फोटो। (Image source: facebook.com/AnkivBaisoyaDUSU/)

दिल्ली पुलिस ने दिल्ली विश्वविद्यालय में दाखिला लेने के लिए कथित तौर पर फर्जी डिग्री जमा करने पर एबीवीपी के पूर्व डूसू अध्यक्ष अंकिव बसोया के खिलाफ मंगलवार को प्राथमिकी दर्ज की। विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने सोमवार 19 नवंबर को इस संबंध में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। बौद्ध अध्ययन विभाग के प्रमुख के टी एस साराओ द्वारा दायर शिकायत के अनुसार बसोया मास्टर पाठ्यक्रम में दाखिला के लिए राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित प्रवेश परीक्षा में शामिल हुए थे। शिकायत में कहा गया है कि इस परीक्षा में सफल होने के बाद बसोया ने एमए बौद्ध स्टडीज, पार्ट वन में प्रवेश लिया और तिरुवल्लुवर विश्वविद्यालय से कला स्रातक के छह सेमेस्टर के छह अंकपत्र पेश किए।

साराओ ने शिकायत में कहा कि एमए (बौद्ध अध्ययन) में प्रवेश के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्रातक की डिग्री जरूरी है। शिकायत के अनुसार, इन अंकपत्रों के सत्यापन के अनुरोध के लिखित जवाब में तिरुवल्लुवर विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक ने कहा है कि बसोया द्वारा पेश अंकपत्र फर्जी है। उन्होंने कहा कि इस रिपोर्ट के आधार पर बसोया का दाखिला 14 नवंबर को रद्द कर दिया गया था। बसोया सितंबर में डूसू के अध्यक्ष निर्वाचित हुए थे। आरएसएस से संबद्ध अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कहने के बाद बसोया ने 15 दिसंबर को इस्तीफा दे दिया था। एबीवीपी ने आरोपों की जांच पूरी होने तक बसोया को संगठन से निलंबित कर दिया था।

अंकिव बसोया के खिलाफ मॉरिस नगर पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 420, 468 और 471 के तहत मामला दर्ज किया गया। दिल्ली हाई कोर्ट ने दिल्ली विश्वविद्यालय (DU) को बसोया की तमिलनाडु के एक विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री की प्रामाणिकता की जांच के लिए 20 नवंबर तक का समय दिया था। एनएसयूआई और आइसा ने डीयू प्रशासन पर बसोया की कथित फर्जी डिग्री की जांच में जान-बूझकर देरी करने का आरोप लगाया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने डूसू का नए सिरे से चुनाव कराने की पार्टी की छात्रा शाखा, भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (NSUI) की मांग को दोहराया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X