ताज़ा खबर
 

हिरासत में लिए गए नारद न्यूज के सीईओ मैथ्यु सैमुअल नाटकीय घटनाक्रम के बाद रिहा

पश्चिम बंगाल विधान सभा चुनावों से ठीक पहले सामने आया था नारद स्टिंग जिसमें टीएमसी के कई नेता कथित तौर पर घूस लेते दिख रहे थे

mathew samuel ceo narada newsपश्चिम बंगाल में सत्ताधारी टीएमसी के कई नेता नारद स्टिंग में फंसे थे. (तस्वीर मैथ्यु सैमुअल के फेसबुक से)

शनिवार रात नई दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर हिरासत में लिए गए नारद न्यूज़ के सीईओ मैथ्यु सैमुअल को नाटकीय तरीके से थोड़ी देर बाद रिहा कर दिया गया। विवादित नारद स्टिंग ऑपरेशन करने वाले सैमुअल अमेरिका से भारत लौट रहे थे। कोलकाता पुलिस ने उनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर रखी थी। कोलकाता पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर (क्राइम) विशाल गर्ग ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया, “सैमुअल को दिल्ली एयरपोर्ट पर थोड़ी देर के लिए हिरासत में लिया गया था लेकिन बाद में इमिग्रेशन अधिकारियों ने पूछताछ करने के बाद उन्हें रिहा कर दिया।” विधान सभा चुनावों से ठीक पहले सामने आए नारद स्टिंग में पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के कई नेता वीडियो कैमरा पर कथित तौर पर घूस लेते दिखाए गए थे. इन नेताओं में टीएमसी सांसद सौगत राय, मुकुल राय, प्रसुन बनर्जी, शुभेंदु अधिकारी, काकोली घोष दस्तीदार व पूर्व परिवहन मंत्री मदन मित्र समेत एक दर्जन से अधिक नेता शामिल थे।

कोलकाता हाई कोर्ट की डिविजन बेंच ने शुक्रवार को कोलकाता पुलिस द्वारा की जा रही नारद स्टिंग की जांच पर 19 अगस्त को होने वाली अगली सुनवाई तक के लिए रोक लगा दी। पुलिस ने हाई कोर्ट का आदेश आने से पहले ही लुकआउट नोटिस जारी की थी। गर्ग ने कहा, “हम अदालत के आदेश का सम्मान करते हैं और उसका पालन करेंगे।” वहीं सैमुअल को हिरासत में लिए जाने की खबर मीडिया में आने के बाद उनके वकील शमीम अहमद ने कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को पत्र लिखकर कहा, “हाई कोर्ट ने कोलकाता पुलिस द्वारा की जा रही समानांतर जांच पर रोक लगा दी है। इसके बावजूद आपके निर्देश पर दिल्ली के इमिग्रेशन अधिकारियों ने मेरे मुवक्किल को हाई कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करते हुए हिरासत में ले लिया है।” अहमद ने कमिश्नर से सैमुअल को तत्काल रिहा किए जाने की व्यवस्था करने का भी अनुरोध किया। सूत्रों ने पीटीआई को बताया कि दिल्ली हवाईअड्डे के अधिकारियों ने सैमुअल को हिरासत में लेने के तुरंत बाद कोलकाता पुलिस से संबंधित दस्तावेज़ के साथ आने को कहा ताकि सैमुअल को उन्हें सौंपा जा सके।

नारद स्टिंग ऑपरेशन में नेताओं के अलावा एक आईपीएस अधिकारी को भी धन स्वीकारते दिखाया गया था। राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 17 जून को कोलकाता पुलिस को इस स्टिंग ऑपरेशन की जांच का आदेश दिया था ममता ने कहा था कि उनकी पार्टी ने सारदा चिटफंड घोटाले और नारद स्टिंग ऑपरेशन में शामिल किसी से ‘एक भी पाई’ नहीं ली थी। मुख्यमंत्री के जांच करने के आदेश के साथ ही पुलिस ने कोलकाता के महापौर और अग्नि एवं आपात सेवा मंत्री सोवन चट्टोपाध्याय की पत्नी की शिकायत पर नारद न्यूज के सीईओ मैथ्यू सैमुअल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की। नारद न्यूज द्वारा जारी स्टिंग ऑपरेशन के वीडियो में चट्टोपाध्याय को कथित तौर पर धन स्वीकार करते दिखाया गया था।

Read Also- शिवराज सिंह चौहान का घूस लेने वाला ऑडियो हुआ वायरल, मुश्किल में भाजपा

पुलिस की जांच में सामने आया कि मैथ्यु सैमुअल ने फर्जी कंपनी की आड़ में तृणमूल के मंत्रियों, सांसदों, विधायकों और वरिष्ठ नेताओं का स्टिंग कर वीडियो प्रकाशित किया था। ये जानकारी रजिस्ट्रार आॅफ कंपनीज (आरओसी) द्वारा कोलकाता पुलिस के ईमेल के भेजे गए जवाब से सामने आई। बाद में खुद मैथ्यु सैमुअल ने भी फर्जी कंपनी की आड़ में घूस कांड का स्टिंग करने की बात स्वीकार की थी। सैमुअल ने इस कंपनी के नाम पर एक से अधिक बैंक अकाउंट भी बनाया था, जिसके जरिए करोड़ रुपए का लेन-देन हुआ था। सैमुअल ने कहा कि यह एक वेबसाइट कंपनी है, जिसे घूस कांड का स्टिंग करने के लिए ही बनाया गया था। हालांकि सैमुअल ने इस कंपनी के नाम पर बैंक अकाउंट बनाने और करोड़ों रुपए के लेनदेन से साफ इनकार किया।

Read More- नारद न्यूज के सीईओ सैमुअल ने फर्जी कंपनी की आड़ में किया था स्टिंग

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पश्चिमी दिल्ली में देवर-भाभी की लाश मिली, हत्या की आशंका
2 प्रधानमंत्री से मिले चंद्रबाबू नायडू, आंध्र प्रदेश के लिए मांगा विशेष राज्य का दर्जा
3 दिल्ली ‘राज्य’ के मुद्दे पर आप सरकार की याचिका एवं अपील पर एक साथ सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट
ये पढ़ा क्या?
X