ताज़ा खबर
 

दिल्ली विश्वविद्यालय: कॉलेजों को डर, खाली न रह जाएं बंद पाठ्यक्रमों की सीटें

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के स्नातक पाठ्यक्रमों में छठी कटआॅफ के आधार पर प्रवेश हो रहे हैं, लेकिन अभी भी प्रवेश रद्द कराने का सिलसिला जारी है।

Author नई दिल्ली | July 24, 2017 03:38 am
दिल्ली विश्वविद्यालय का कला संकाय (आर्ट्स फैकल्टी)

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के स्नातक पाठ्यक्रमों में छठी कटआॅफ के आधार पर प्रवेश हो रहे हैं, लेकिन अभी भी प्रवेश रद्द कराने का सिलसिला जारी है। ऐसे में कॉलेजों को डर है कि प्रवेश रद्द करने की वजह से कहीं बंद पाठ्यक्रमों में सीटें खाली न रह जाएं। छठी कटआॅफ के आधार पर 25 जुलाई तक दाखिला लिया जा सकता है। आत्माराम सनातन धर्म कॉलेज (एआरएसडी) के प्राचार्य डॉ ज्ञानतोष कुमार झा ने बताया कि छठी कटआॅफ के बाद भी विद्यार्थी प्रवेश रद्द कराने के लिए आ रहे हैं। उनका कहना है कि हमारे यहां कई पाठ्यक्रमों में प्रवेश बंद हो गया है और अब ऐसा लग रहा है कहीं इन पाठ्यक्रमों में सीटें खाली न रह जाएं।

लक्ष्मीबाई कॉलेज की प्राचार्या डॉ प्रत्युषा वत्सला का कहना है कि प्रवेश रद्द कराने का सिलसिला जारी है। ऐसे में यह कहना मुश्किल है कि हमारे यहां सभी पाठ्यक्रमों की सीटें भर गई हैं। उन्होंने बताया कि ऐसा नहीं है कि अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति की ही सीटें खाली हों, बल्कि सामान्य वर्ग की सीटें भी खाली हैं। एक अन्य कॉलेज के प्राचार्य ने बताया कि समझ नहीं आ रहा है कि विद्यार्थी कहां जा रहे हैं। उत्तरी परिसर में मौजूद कॉलेजों तक में खीटें खाली हैं। ऐसे में परिसर के बाहर के कॉलेजों की बात ही न की जाए तो बेहतर है।
अभी विभिन्न कॉलेजों में काफी संख्या में सीटें बची हुई हैं। कॉलेजों को सबसे बड़ा डर यही सता रहा है कि उन्होंने जिन पाठ्यक्रमों में प्रवेश बंद कर दिए हैं, उनमें प्रवेश रद्द कराने की वजह से सीटें खाली न रह जाएं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App