ताज़ा खबर
 

दिल्ली का ‘सुपर चोर’ कुणाल गिरफ्तार

दिल्ली और एनसीआर से लग्जरी कार चोरी करने वाला कुणाल के ऊपर अपने साथियों के साथ कई सौ गाड़ियां चुराने का आरोप है।

Author नई दिल्ली | October 23, 2017 03:52 am
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

प्लास्टिक सर्जरी कर हुलिया बदलने वाला सुपर चोर कुणाल उर्फ तनुजा को दक्षिणी पूर्वी जिला पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दिल्ली और एनसीआर से लग्जरी कार चोरी करने वाला कुणाल के ऊपर अपने साथियों के साथ कई सौ गाड़ियां चुराने का आरोप है। उसके पास से मारुति स्विफ्ट से लेकर महिंद्रा स्कार्पियो तक की गाड़ियां बरामद की गई हैं। एक दर्जन चोरी की कार के साथ गिरफ्तार कुणाल अपने हुलिया के साथ नाम भी बदलने में मास्टर है। जिले के पुलिस उपायुक्त रोमिल बानियां ने पत्रकारों को बताया कि साल 2012 में उसने प्लास्टिक सर्जरी से अपना हुलिया बदल लिया था। पुलिस ने एक पुख्ता सूचना पर उसे गिरफ्तार किया तो वाहन चोरी के कई बड़े मामले का खुलासा हो गया। जांच के दौरान पता चला कि चोरी के बाद अक्सर वह अपना नाम और हुलिया बदल लेता था। पुलिस ने उसके सहयोगी को भी गिरफ्तार कर लिया था पर वह चकमा दे रहा था। एक सूचना पर उसे लाजपत राय रोड, रिंग रोड से दबोचा गया। वह गाजियाबाद के शालीमार गार्डन में रहता था। पूछताछ में पुलिस को पता चला कि चोरी के वाहन को वह मेरठ और मुजफ्फरनगर में बेचता था। जांच में पता चला कि गलत संगत में पड़ने की वजह से आरोपी घरवालों से दूर रहने लगा था। इस बीच एक युवती से उसकी दोस्ती हो गई। इसके बाद वह वाहन चोरी की वारदात को अंजाम देने लगा।

पूछताछ में उसने बताया कि चोरी की कार उसने अपने मुजफ्फरनगर के असरफ और गाजियाबाद के सादाब को भी दे दी थी। चोरी को वह तीन स्तरीय ढांचे में बदल देता था। पहला वैसे वाहन चोर जो गाड़ियां चुराने में मास्टर होता था। दूसरा वैसे व्यक्ति जो चोरी की गाड़ी का चेसिस और इंजन से छेड़छाड़ में मास्टर थे और तीसरा वैसा व्यक्ति जिसका संपर्क पूरे देश के कार डीलरों से होता था। उसके पास से जो गाड़ियां बरामद हुई हैं वह सरोजनीनगर, लिंक रोड गाजियाबाद, सेक्टर-31 फरीदाबाद, मालवीयनगर, सनलाइट कालोनी, सफदरजंग एंक्लेव और हजरत निजामुद्दीन से चुराई गई थीं। कुणाल अमर कालोनी पुलिस की सूची में बदमाशों के रूप में दर्ज है। वह दो मामले में भगोड़ा घोषित किया जा चुका है। उसका साथी इरशाद मधु विहार का है जबकि शादाब मेरठ का है। पुलिस इस गिरोह का अभी पता लगा रही है कि अब तक उसने कितनी गाड़ियां और कारें किस इलाके और राज्यों से चोरी की हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App