Delhi Police Special cell encounter 4 criminal of Rajesh bharti gang killed in Chhatarpur area of south delhi - दिल्ली में बड़ा एनकाउंटर: कुख्यात राजेश भारती समेत चार बदमाशों को पुलिस ने मार गिराया - Jansatta
ताज़ा खबर
 

दिल्ली में बड़ा एनकाउंटर: कुख्यात राजेश भारती समेत चार बदमाशों को पुलिस ने मार गिराया

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि तीन पुलिसकर्मी भी इस मुठभेड़ में घायल हो गए। अधिकारी ने बताया कि ये राजेश भारती गिरोह के सदस्य थे। मुठभेड़ के दौरान गंभीर रूप से घायल अपराधियों को अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई।

दिल्ली के छतरपुर में घटनास्थल पर मौजूद पुलिस।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने शनिवार (9 जून) को दक्षिणी दिल्ली के छत्तरपुर में चार संदिग्ध इनामी अपराधियों को एक मुठभेड़ में मार गिराया। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि तीन पुलिसकर्मी भी इस मुठभेड़ में घायल हो गए। अधिकारी ने बताया कि ये राजेश भारती गिरोह के सदस्य थे। मुठभेड़ के दौरान गंभीर रूप से घायल अपराधियों को अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई। दिल्ली पुलिस को राजेश भारती की कई मामलों में तलाश थी। पुलिस ने उस पर एक लाख रुपये का इनाम भी घोषित कर रखा था। दिल्ली पुलिस (स्पेशल सेल) के डीसीपी संजीव यादव ने एनकाउंटर की पुष्टि की है। इस घटना में 6 पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। दिल्ली पुलिस ने इन्हें  एक गुप्त सूचना के आधार पर घेर लिया। जब पुलिस ने इन्हें समपर्ण करने को कहा तो इन्होंने गोलियां बरसानी शुरू कर दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में ये घायल हो गये। पुलिस ने इलाके को चारों ओर से घेर लिया है और घटनास्थल से सबूत इकट्ठा कर रही है।

पुलिस ने बताया कि मृत संदिग्ध अपराधियों की पहचान गिरोह के प्रमुख राजेश भारती, विद्रोह, उमेश डॉन और भीखू के रूप में हुई है। विशेष प्रकोष्ठ के कर्मी पिछले दो-तीन महीने से छतरपुर के फार्महाउस पर नजर रख रहे थे क्योंकि उन्हें संदेह था कि यहां गैंग के सदस्य आते हैं। आज हुई मुठभेड़ में घायल आरोपियों को अस्पताल ले जाया गया था, जहां उनकी मौत हो गई। भारती और विद्रोही के सिर पर एक लाख रुपये का इनाम था जबकि उमेश के सिर पर 50,000 रुपये का इनाम था। ये सभी हत्या और उगाही के मामले के आरोपी थे। भारती इस साल की शुरुआत में हरियाणा पुलिस की गिरफ्त से फरार हो गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App