ताज़ा खबर
 

पुलिस ने किया बुराड़ी सुसाइड केस की गुत्‍थी सुलझाने का दावा, जानिए कैसे हुई 11 लोगों की मौत

उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 सदस्य एक जुलाई को एक साथ मृत पाये गये थे। इनमें से 10 के शव फंदे से लटक रहे थे। पुलिस के मुताबिक दस अन्य सदस्यों की पोस्टमार्टम रिपोर्टों में कहा गया है कि सभी की मौत लटकने से हुई है और कुछ खरोंचों के अलावा शवों पर चोट के कोई निशान नहीं पाये गये हैं।

दिल्ली पुलिस की माने तो अबतक की जांच में किसी तांत्रिक या बाहरी शख्स का रोल नजर नहीं आया है। (फोटो-पीटीआई)

दिल्ली पुलिस ने चर्चित बुराड़ी सुसाइड केस को सुलझा लेने का दावा किया है। दिल्ली पुलिस ने इस पूरे कांड में किसी भी बाबा या तांत्रिक की भूमिका से इनकार किया है। पुलिस ने कहा कि सभी 11 सदस्यों की मौत लटकने से हुई है। पुलिस ने कहा कि 11 लाशों में से तीन के हाथ ढीले थे। दिल्ली पुलिस के मुताबिक इस घर से पुलिस को कुल 8 रजिस्टर मिले थे। जिससे पुलिस को कई जानकारियां हासिल हुईं। दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट सीपी आलोक वर्मा ने इस मामले से सस्पेंस को खत्म करते हुए कहा कि इस केस में ना तो किसी तांत्रिक, ना ही किसी बाहरी व्यक्ति की भूमिका नजर आ रही है। पुलिस ने कहा कि सभी 11 लोगों की मौत लटकने से ही हुई है। आलोक वर्मा ने कहा कि सभी 11 लोगों के पोस्टमार्टम रिपोर्ट इस ओर इशारा करते हैं कि उनकी मौत लटकने से हुई है। उन्होंने कहा कि ये थ्योरी मौत की वजह फांसी को सपोर्ट करती है। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट की विस्तार से जांच की जा रही है, साथ ही केस की जांच भी जारी है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चलता है कि सबसे बुजुर्ग नारायण देवी की मौत भी परिवार के अन्य 10 सदस्यों की तरह ही फांसी पर लटकने से हुई है। पहले कहा जा रहा था कि नारायणी देवी की मौत के पीछे कुछ साजिश हो सकती है, क्योंकि उनका शव मकान के दूसरे कमरे में फर्श पर पड़ा हुआ था। बता दें कि उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 सदस्य एक जुलाई को एक साथ मृत पाये गये थे। इनमें से 10 के शव फंदे से लटक रहे थे। पुलिस के मुताबिक दस अन्य सदस्यों की पोस्टमार्टम रिपोर्टों में कहा गया है कि सभी की मौत लटकने से हुई है और कुछ खरोंचों के अलावा शवों पर चोट के कोई निशान नहीं पाये गये हैं।

पुलिस के मुताबिक, “अंतिम राय में कहा गया है कि सभी की मौत लटकने से हुई है और कुछ खरोंचों के अलावा शवों पर चोट के कोई निशान नहीं पाये गये हैं। बता दें कि मरने वालों में नारायण देवी (77) की बेटी प्रतिभा (57) और दो पुत्र भवनेश (50) तथा ललित (45), भवनेश की पत्नी सविता (48) और उनके तीन बच्चे नीतू (25), मानिका (23) और धीरेन्द्र (15) थे।मृत पाये गये अन्य लोगों में ललित की पत्नी टीना (42), उनका 15 वर्षीय पुत्र दुष्यंत और प्रतिभा की बेटी प्रियंका शामिल हैं। प्रियंका की पिछले महीने सगाई हुई थी और इस साल के अंत में उसकी शादी होनी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App