ताज़ा खबर
 

102 नई ट्रेनें चलाएगा डीएमआरसी, तीन मिनट से कम समय में आ जाएगी मेट्रो

पिछले पांच सालों के दौरान मेट्रो में चलने वालों की संख्या में सालाना 17.5 प्रतिशत की वृद्धि देखी जा रही है।

Author नई दिल्ली | October 3, 2016 9:01 AM
मेट्रो।

दिल्ली मेट्रो ने अपने सभी खंडों में यात्रियों के प्रतीक्षा समय को घटाकर अधिक से अधिक तीन मिनट करने के लिए ट्रेनों के फेरों की संख्या बढ़ाने की महत्वाकांक्षी योजना बनायी है। दिल्ली मेट्रो में कुल 19 खंडों में से अभी मात्र तीन ऐसे खंड हैं, जहां ट्रेन आने का समय तीन मिनट अथवा इससे कम है। मेट्रो के अधिकारियों ने हाल में ही दिल्ली सरकार को 916 नये कोचों को खरीदने का प्रस्ताव भेजा है। इससे 102 नयी ट्रेन चलायी जा सकेंगी। नये कोचों की खरीद के बाद मौजूदा चार और छह कोचों वाली ट्रेनों में भी अतिरिक्त कोच बढ़ाये जा सकेंगे। हालांकि प्रस्ताव को अभी केन्द्र और राज्य सरकार से अनुमति नहीं मिलती है, लेकिन इससे ‘भारी भीड़’ से निपटने और अपना नेटवर्क विस्तार करने में मेट्रों को मदद मिलेगी। पिछले पांच सालों के दौरान मेट्रो में चलने वालों की संख्या में सालाना 17.5 प्रतिशत की वृद्धि देखी जा रही है।

HOT DEALS
  • Vivo V5s 64 GB Matte Black
    ₹ 13099 MRP ₹ 18990 -31%
    ₹1310 Cashback
  • Lenovo Phab 2 Plus 32GB Champagne Gold
    ₹ 17999 MRP ₹ 17999 -0%
    ₹900 Cashback

भारत का हुआ ताकतवर लड़ाकू विमान, देखें वीडियो: 

विस्तृत परियोजना रपट (डीपीआर) के अनुसार कश्मीरी गेट से ग्रीन पार्क के बीच यकलो लाइन में प्रत्येक एक मिनट 54 सेकेंड में एक ट्रेन चलायी जाएगी। इससे इस मार्ग पर ट्रेनों के फेरे में बढ़ोतरी हो जाएगी। इस समय समयपुर बादली से गुडगांव के हुड्डा सिटी सेंटर तक के सबसे लंबे और व्यस्त मार्ग में प्रत्येक दो मिनट 50 सेंकेड एवं आठ मिनट में ट्रेन चलती है। नये कोच आने के बाद यह समय दो मिनट 50 सेकेंड और एक मिनट 54 सेकेंड हो जाएगा। इसी प्रकार द्वारका से नोएडा सिटी सेंटर वाली लाइन तीन और चार में ट्रेन की फेरों का समय तीन मिनट 38 सेंकेंड से दो मिनट 25 सेकेंड तक आ जाएगा।

नोएडा से ग्रेटर नोएडा जाने वाली मेट्रो के सभी 21 स्टेशनों पर पार्किंग का इंतजान होगा। नोएडा और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने पार्किंग के लिए जमीन की पहचान भी कर ली है।  वित्तीय मजबूती के लिए स्टेशनों पर बनाए जाने वाले स्काईवॉक और फुटओवर ब्रिज (एफओबी) पर विज्ञापनों के जरिए प्रचार किया जाएगा, जिसके लिए विज्ञापन नीति तैयार की जा रही है। वहीं डीएमआरसी की तर्ज पर नोएडा मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (एनएमआरसी) की वेबसाइट भी बनाई जाएगी, जिसे यूपीडेस्को तैयार करेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App