कांग्रेस से गठबंधन को बैचेन है ‘आप’: शीला दीक्षित

लोकसभा चुनाव में आम जनता कांग्रेस को क्यों वोट करें। यह बताने के लिए कांग्रेसी कार्यकर्ता घर-घर जाएंगे। पूर्वी दिल्ली के बाबरपुर इलाके में जिला कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित कर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित ने यह अपील की। उन्होंने कहा कि कांगे्रस सरकार के 15 साल के कार्यकाल में दिल्ली की शक्ल बदल गई थी।

Author नई दिल्ली, 3 मार्च। | Updated: March 4, 2019 12:49 PM
दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित। (फोटो- पीटीआई)

जनसत्ता संवाददाता
लोकसभा चुनाव में आम जनता कांग्रेस को क्यों वोट करें। यह बताने के लिए कांग्रेसी कार्यकर्ता घर-घर जाएंगे। पूर्वी दिल्ली के बाबरपुर इलाके में जिला कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित कर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित ने यह अपील की। उन्होंने कहा कि कांगे्रस सरकार के 15 साल के कार्यकाल में दिल्ली की शक्ल बदल गई थी। बीते चार साल में आम आदमी पार्टी की हकीकत जनता के सामने आ चुकी है। विधानसभा चुनाव में 67 सीट मिलने के बाद भी ‘आप’ अब कांग्रेस से गठबंधन करने को बेचैन है। कांगे्रस के बेहतरीन कार्य की वजह से ही पूर्वी दिल्ली तक मेट्रो आई और अस्पताल भी उपलब्ध हुए।

शीला दीक्षित ने कहा कि जल्द ही पूरे हिंदुस्तान का चुनाव आना है। यह साबित हो गया है कि देश को अब कांगे्रस की आवश्यकता है। लोग चाहते हैं कि कांग्रेस की सरकार बने और देश आगे बढ़े। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी प्रधानमंत्री बनेंगे। उन्होंने कहा कि जिस तरह का नेतृत्त्व कांग्रेस में है। वह देश को आगे बढ़ाने के लिए है। उन्होंने कहा कि दिल्ली पूरे देश की राजधानी है। यहां पर जब विकास होता है, तो वह पूरे देश में फैल जाता है। इससे हमारी व आपकी जिम्मेवारी और भी बढ़ जाती हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली के सातों सांसद बीते पांच साल में हर मोर्चे पर फेल साबित हुए हैं और अब भाजपा पर दिल्ली वालों को विश्वास नहीं है। कांग्रेस के दिल्ली प्रभारी पीसी चाको ने कहा कि भाजपा ने देश की अर्थव्यवस्था को चौपट कर दिया है। इसलिए बेरोजगारी है। उन्होंने कहा कि देश को पूंजीपतियों के चंगुल से बाहर निकालना है तो इस बार भाजपा को हराना होगा। इस मौके पर कार्यकारी अध्यक्ष राजेश लिलोथिया, पूर्व मंत्री नरेंद्र नाथ, पूर्व विधायक चौ मतीन, विपिन शर्मा, वीर सिंह धींगान समेत पार्टी के अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Next Stories
1 चुनावी दंगल के लिए नेताओं की दौड़ तेज, अक्षय कुमार से लेकर गौतम गंभीर तक कतार में
2 पुरानी दिल्ली का कौन होगा नया दावेदार
3 हंगामा भी सत्र का हिस्सा
यह पढ़ा क्या?
X