ताज़ा खबर
 

जेटली मानहान‍ि केस: अरव‍िंद केजरीवाल को हाईकोर्ट ने लताड़ा

2015 में अरुण जेटली ने अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के पांच बड़े नेताओं के खिलाफ मानहानि का केस दर्ज किया था।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। (File Photo)

अवमानना के मामने में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा फटकार लगाई है। पीटीआई के अनुसार शुक्रवार को हाई कोर्ट ने केजरीवाल को फटकार इसलिए लगाई क्योंकि उन्होंने कोर्ट के एडवांस सुनवाई के फैसले पर सवाल खड़े कर दिए थे। कोर्ट का कहना था कि वे इस केस की जल्द से जल्द सुनवाई कर इसे खत्म करना चाहता है, जिसके बाद केजरीवाल ने इसपर सवाल खड़ा कर दिया था। इससे पहले बुधवार को हुई इस मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने केजरीवाल से पूछा था कि क्या आपने यह कहकर झूठ बोला था कि उन्होंने इस मामले की एक सुनवाई में अपने वकील से वित्त मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल नहीं करने को कहा था।

अरुण जेटली द्वारा अरविंद केजरीवाल के खिलाफ दायर किये गये आपराधिक मानहानि के इस मुकदमे की पैरवी केजरीवाल की ओर से वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी कर रहे थे। पिछले महीने अरविंद केजरीवाल ने अदालत को बताया था कि उन्होंने अपने वकील राम जेठमलानी को केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ “crook” (बदमाश) जैसे शब्दों का इस्तेमाल नहीं करने को कहा था। लेकिन, राम जेठमलानी, जिन्हें केजरीवाल ने अब अपनी पैरवी करने से हटा दिया है ने दावा किया था कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उन्हें अरुण जेटली के खिलाफ और भी अभद्र शब्दों का इस्तेमाल करने को कहा था।

इस खुलासे के बाद केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली ने अदालत में अरविंद केजरीवाल द्वारा झूठ बोलने के लिए और झूठ शपथ पत्र दायर करने के लिए उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। जस्टिस मनमोहन ने इसी मामले में केजरीवाल को नोटिस जारी किया है और उनसे इस मामले में चार सप्ताह में जवाब मांगा है। मामले की अगली सुनवाई 11 दिसंबर को होगी। गौरतलब है कि 2015 में अरुण जेटली ने अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के पांच बड़े नेताओं के खिलाफ मानहानि का केस दर्ज किया था। केजरीवाल ने आरोप लगाया था कि अरुण जेटली ने दिल्ली डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन का मुखिया रहते हुए अपने 13 साल के कार्यकाल में भ्रष्टाचार किया था। इसी आरोप के खिलाफ जेटली ने अरविंद केजरीवाल पर 10 करोड़ के मानहानि का केस दर्ज किया था।

Next Stories
1 AIMPLB बोर्ड ने मुसलमानों और शरिया का मजाक बना दिया: अहमद बुखारी
2 निजता का अधिकार: जज बेटे ने राइट टू प्राइवेसी पर अपने ही पिता के फैसले को पलटा
3 दिल्ली: पसलियों में घुसे थे दो चाकू, घायल युवक पानी मांगता रहा मगर लोग वीडियो बनाते रहे, मौत
ये पढ़ा क्या?
X