ताज़ा खबर
 

भाजपा विधायक और दो अन्य के खिलाफ बलात्कार के आरोप तय

दिल्ली की एक अदालत ने हरियाणा के एक भाजपा विधायक और दो अन्य को होटल में एक महिला को नशीला पदार्थ पिलाकर कथित तौर पर बलात्कार..

Author नई दिल्ली | September 19, 2015 9:43 AM
प्रतीकात्मक चित्र

दिल्ली की एक अदालत ने हरियाणा के एक भाजपा विधायक और दो अन्य को होटल में एक महिला को नशीला पदार्थ पिलाकर कथित तौर पर बलात्कार करने के लिए मुकदमा चलाने का निर्देश दिया है और कहा है कि प्रथमदृष्ट्या उनके खिलाफ मामला बनता है। अदालत ने भाजपा विधायक उमेश अग्रवाल और संदीप लूथरा पर भारतीय दंड संहिता की धाराओं के तहत बलात्कार, जहर देकर जख्म पहुंचाने और आपराधिक धमकी देने के अपराध तय किए गए।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश निवेदिता अनिल शर्मा ने रेखा सूरी के खिलाफ भी आरोप तय किए जो कथित पीड़िता की दोस्त है और उसे फरीदाबाद के एक होटल में लेकर गई। सूरी को बलात्कार में सहयोग करने की धाराओं के तहत आरोपित किया गया है। सभी आरोपियों ने इन आरोपों से इनकार किया है। जज ने कहा कि रिकॉर्ड से यह प्रथमदृष्ट्या स्पष्ट है कि फरीदाबाद के होटल में उसे लाकर आरोपी रेखा ने पीड़िता से बलात्कार के लिए उकसाया और बेहोश करने और उससे बलात्कार करने के अपराध में सहयोग किया वहां आरोपी उमेश अग्रवाल ने महिला को शीतल पेय पदार्थ में नशीला पदार्थ दिया और उससे बलात्कार किया।

HOT DEALS

जज ने कहा कि इसके बाद आरोपी संदीप लुथरा ने उससे बलात्कार किया और उन्होंने पीड़िता को धमकी दी कि घटना के बारे में किसी को नहीं बताए। अदालत ने कहा कि प्रथमदृष्ट्या यह स्पष्ट है कि दोनों आरोपी संदीप लुथरा और उमेश अग्रवाल ने उसे नशीला पदार्थ दिया, पीड़िता से बलात्कार किया और उसे धमकी दी और आरोपी रेखा ने नशीला पदार्थ देने में और उमेश अग्रवाल और संदीप लुथरा द्वारा बलात्कार करने में सहयोग दिया। तीनों आरोपियों द्वारा दोषी होने से इनकार करने के बाद अदालत ने साक्ष्य रिकॉर्डिंग की तारीख एक अक्तूबर तय की।

पुलिस के मुताबिक महिला ने पांच जनवरी को आरोप लगाया कि अपनी दोस्त रेखा के कहने पर दोनों तीन जनवरी को फरीदाबाद के एक होटल में गए थे। कुछ समय बाद किसी काम के बहाने रेखा वहां से चली गई और बाद में उमेश रेखा से मिलने आया और उसे पेय पदार्थ दिया। उसने दावा किया कि इसे पीकर वह बेहोश हो गई जिसके बाद उससे बलात्कार किया गया। पीड़िता ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि अगली सुबह उमेश ने संदीप को बुलाया और उसने भी महिला से बलात्कार किया। बाद में संदीप ने उसे पश्चिम दिल्ली के तिलक नगर में छोड़ दिया।

आरोप तय करने पर जिरह के दौरान तीनों आरोपियों के वकील ने दावा किया कि वे निर्दोष हैं और मामले में उन्हें गलत तरीके से फंसाया गया है। उन्होंने आरोप लगाए कि महिला और रेखा सूरी के बीच पैसे को लेकर विवाद था जिस कारण उसने तीनों के खिलाफ गलत आरोप लगाए। अदालत ने फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला के निदेशक को भी नोटिस जारी किया और यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि मामले की जल्द जांच कर एक अक्तूबर तक रिपोर्ट सौंपी जाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App