ताज़ा खबर
 

दिल्ली सीएम केजरीवाल का बड़ा आरोप- चीफ सेक्रेटरी हैं बीजेपी के जासूस

बता दें, कि इससे पहले भी मुख्यमंत्री मुख्य सचिव पर निशाना साध चुके हैं।
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। (File Photo)

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के मुख्य सचिव एमएम कुट्टी पर बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि मुख्य सचिव भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के जासूस की तरह काम कर रहे हैं। बता दें कि मेट्रो किराया बढ़ोत्तरी पर एक बार फिर से केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार आमने-सामने है। कहा जा रहा है कि जब दिल्ली सरकार ने मुख्य सचिव से किराया बढ़ोत्तरी मुद्दे पर जांच का आदेश की सूचना निकालने को कहा तो उन्होंने इससे इनकार कर दिया।  इससे नाराज मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव को समन जारी करते हुए अपने आवास पर जांच आदेश की कॉपी लेकर शाम पांच बजे मिलने को कहा।

बता दें कि इससे पहले भी मुख्यमंत्री मुख्य सचिव पर निशाना साध चुके हैं। इसी महीने 02 अक्टूबर को मुख्यमंत्री केजरीवाल ने मुख्य सचिव एमएम कुट्टी से स्पष्टीकरण मांगते हुए पूछा था कि देश के भूतपूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर विजय घाट पर आयोजित श्रद्धांजलि समारोह में आप क्यों नहीं आए। इस समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा अरविंद केजरीवाल और उनके सहयोगी उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी मौजूद थे।

मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार नागेन्द्र शर्मा ने इसकी जानकारी ट्वीट कर दी थी। उन्होंने लिखा था, “दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के मुख्य सचिव को विजय घाट पर आयोजित समारोह से गायब रहने पर समन जारी किया है। इस प्रोग्राम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल हुए थे।” कार्यक्रम का आयोजन दिल्ली सरकार के कला-संस्कृति एवं भाषा विभाग ने किया था। हालांकि, मुख्य सचिव कुट्टी के अलावा और भी कई अधिकारी इस कार्यक्रम से नदारद थे।

लिहाजा, माना जा रहा है कि मुख्य सचिव को लेकर फिर से केजरीवाल सरकार और केंद्र सरकार में ठन सकती है। दिल्ली सरकार के सूत्रों के मुताबिक मुख्य सचिव कई मौकों पर केजरीवाल सरकार के पैमाने पर खरे नहीं उतर सके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.