अरविंद केजरीवाल का दिल्ली के मुख्य सचिव से जवाब तलब- शास्त्रीजी की जयंती कार्यक्रम में क्यों नहीं आए? - Delhi CM Arvind Kejriwal asks Delhi chief secretary MM KUTTI to explain absence at Lal Bahadur Shastri anniversary event - Jansatta
ताज़ा खबर
 

अरविंद केजरीवाल का दिल्ली के मुख्य सचिव से जवाब तलब- शास्त्रीजी की जयंती कार्यक्रम में क्यों नहीं आए?

दिल्ली सरकार में कार्यरत एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक इस तरह के राष्ट्रीय स्तर के कार्यक्रम में मुख्य सचिव की गैर मौजूदगी से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल नाराज हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के मुख्य सचिव एमएम कुट्टी से स्पष्टीकरण मांगते हुए पूछा है कि देश के भूतपूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर विजय घाट पर आयोजित श्रद्धांजलि समारोह में वो क्यों नहीं आए। इस समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा अरविंद केजरीवाल और उनके सहयोगी उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी मौजूद थे।

मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार नागेन्द्र शर्मा ने इसकी जानकारी ट्वीट कर दी। उन्होंने लिखा है, “दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के मुख्य सचिव को विजय घाट पर आयोजित समारोह से गायब रहने पर समन जारी किया है। इस प्रोग्राम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल हुए थे।”

दिल्ली सरकार में कार्यरत एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक इस तरह के राष्ट्रीय स्तर के कार्यक्रम में मुख्य सचिव की गैर मौजूदगी से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल नाराज हैं। बता दें कि कार्यक्रम का आयोजन दिल्ली सरकार के कला-संस्कृति एवं भाषा विभाग ने किया था। हालांकि, मुख्य सचिव कुट्टी के अलावा और भी कई अधिकारी इस कार्यक्रम से नदारद थे।

यह पहला मामला नहीं है जब आम आदमी पार्टी की सरकार ने किसी बड़े अधिकारी को निशाना बनाया हो। इससे पहले पिछले महीने भी आप ने लोक निर्माण विभाग के सचिव पर एक प्राइवेट कंपनी का साथ देने, भ्रष्टाचार और पक्षपात करने का आरोप लगाया था और कहा था कि इससे विकास कार्य में बाधा आती है। एचटी मीडिया में मुख्य सचिव कुट्टी से जब इस पर प्रतिक्रिया लेनी चाही तो उन्होंने कई फोन कॉल्स और मैसेजेज के बाद भी कोई जवाब नहीं दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App