''छह प्रॉपर्टी और 20 लाख रुपये के लिए खत्‍म कर दिया पूरा परिवार, लाश गाड़ कर चुनवा दी दीवार'' - Delhi BSP politician and his family murder plot will give ghoosbums - Jansatta
ताज़ा खबर
 

“छह प्रॉपर्टी और 20 लाख रुपये के लिए खत्‍म कर दिया पूरा परिवार, लाश गाड़ कर चुनवा दी दीवार”

6 लोगों की हत्याकांड का यह मामला आपके रोंगटे खड़े कर देगा।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर (Indian Express)

बीएसपी नेता मुनव्वर हसन राणा की 19 मई को हत्या कर दी गई थी। वहीं उनके परिवार के 6 सदस्यों को भी बर्बरता से मौत के घाट उतार दिया गया था। इन हत्याओं के मामले में चौंकाने वाली जानकारियां सामने आई हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक इन हत्याओं का आरोपी शख्स शाहिद खान उर्फ बंटी है जिसने बड़ी चालाकी से राणा और उसके पूरे परिवार को मौत के घाट उतार दिया था। राणा की हत्या से पहले बंटी ने कथित रूप से उसके परिवार को मारने का काम शुरू किया। हत्याओं की वारदात का सिलसिला 20 अप्रैल से चल रहा था जो 19 मई को मुनव्वर राणा की हत्या पर खत्म हुआ।

रेप केस मामले में तिहाड़ जेल में बंद मुनव्वर राणा, 17 मई को बेल पर बाहर आए थे। 19 मई को कथित रूप से कॉन्ट्रैक्ट किलर्स ने राणा की हत्या उसके दिल्ली के बुराड़ी स्थित संत नगर इलाके के घर में घुसकर कर दी थी। राणा की हत्या की जानकारी बंटी ने खुद ही पुलिस को दी थी। इस मामले में पुलिस ने शक के बाद बंटी से पूछताछ की और भेद खुल गया। पुलिस ने बंटी के एक और दोस्त दीपक को भी गिरफ्तार किया और फिर कॉन्ट्रैक्ट किलर्स को भी। पूछताछ के बाद कलह खुलती गई। खबरों के मुताबिक बंटी ने पुलिस को बताया है कि उसने 20 अप्रैल को राणा की पत्नी और दो बेटियों की हत्या की। बंटी उन्हें अपनी कार में मेरठ ले जाने के बहाने ले गया और फिर दरौला गांव के पास उसने तीनों की गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या के बाद उसने दिल्ली वापिस लौटते समय तीनों के शवों को दफना दिया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस अब राणा की पत्नी और बेटियों के शवों की तलाश में जुटी है।

इसके बाद अगले दिन यानी 21 अप्रैल को बंटी ने राणा के दोनों बेटों(आकिब और शाकिब) को अपने दफ्तर पर बुलाया। दोनों अपनी मां और बहनों की कोई खबर नहीं मिलने से परेशान थे। आकिब और शाकिब के उसके बुराड़ी स्थित भगत कॉलोनी दफ्तर में पहुंचने पर उनकी छत पर लेजाकर बेरहमी से हत्या कर दी गई। पुलिस ने दोनों के शवों को एक दफ्तर के सूखे टैंक से बरामद किया था। बरामद की गई लाशों को नमक लगाकर गाढा गया था ताकि वे जल्दी गल जाएं। पूरे परिवार को कथित रूप से मौत के घाट उतारने के बाद उसने(बंटी) राणा को बताया कि उसका परिवार रहस्यमय रूप से लापता हो गए हैं। परिवार के लापता होने की रिपोर्ट भी बंटी ने ही दर्ज कराई थी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक बंटी और राणा दोनों ही अच्छे दोस्त थे और प्रॉपर्टी के कारोबार में थे। दोनों पर ही हत्या और जमीन कब्जाने के दर्जनों मामले दर्ज थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक मुख्य आरोपी बंटी ने कथित रूप से इस हत्याकांड को प्रॉपर्टी विवाद के चलते अंजाम दिया। पार्टनरशिप में दोनों ने 6 प्रॉपर्टी हासिल की थी लेकिन बंटी के दावे के मुताबिक राणा ने गैर-कानूनी तरीके से छ की छ प्रॉपर्टी अपने नाम कर लीं। इसके अलावा बंटी का दावा है कि उसने राणा को 20 लाख रुपये उधार दिए थे जिन्हें लौटाने से उसने मना कर दिया था। इसी बात से गुस्साए बंटी ने बदला लेने का फैसला किया और राणा समेत उसके पूरे परिवार को मार डाला।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App