ताज़ा खबर
 

रामजस हिंसा पर बोले दिल्ली के अॉटो ड्राइवर्स-नहीं कराएंगे राष्ट्रविरोधियों को सफर, इतनी परेशानी है तो जाओ पाकिस्तान

दिल्ली अॉटो रिक्शा संघ के जनरल सेक्रेटरी राजेंद्र सोनी ने कहा कि हम दिल्ली में रहते हैं, हम भारतीय हैं। हम राष्ट्रविरोधी नारे नहीं लगने देंगे।

अॉटो संघ ने कहा, अगर ड्राइवर को लगता है कि कोई यात्री राष्ट्रविरोधी बातें कर रहा है तो वह तुरंत उसे उतरने को कह देगा।

दिल्ली यूनिवर्सिटी में जेएनयू छात्र उमर खालिद की सेमिनार रद्द होने के बाद राष्ट्रवाद और अभिव्यक्ति की आजादी पर छिड़ी बहस दिल्ली के अॉटो वालों तक भी पहुंच गई है। दिल्ली के अॉटो वालों से साफ कहा है कि वह राष्ट्रविरोधियों को सफर नहीं कराएंगे। दिल्ली अॉटो रिक्शा संघ के जनरल सेक्रेटरी राजेंद्र सोनी ने कहा कि हम दिल्ली में रहते हैं, हम भारतीय हैं। हम राष्ट्रविरोधी नारे नहीं लगने देंगे। सोनी ने दावा किया कि उनकी संस्था दिल्ली की सबसे बड़ी यूनियन है, लेकिन वह यह नहीं बता पाए कि उसमें कुल कितने सदस्य हैं।

‘पाकिस्तान क्यों नहीं चले जाते’: उन्होंने कहा कि सबसे पहले इन लोगों ने जेएनयू की वातावरण खराब किया और अब ये लोग डीयू तक पहुंच गए हैं। हम उन्हें दिल्ली यूनिवर्सिटी पर कब्जा नहीं करने देंगे। उन्होंने राजधानी में चल रही स्थिति पर गंभीर चिंता भी जताई। उन्होंने कहा कि कश्मीर की आजादी, बस्तर की आजादी, अरे ये लोग कैसी आजादी चाहते हैं। अगर इन्हें इतनी ही परेशानी है तो ये लोग पाकिस्तान या अपनी पसंद के किसी देश में जा सकते हैं। इससे पहले हरियाणा के मंत्री अनिल विज ने भी एेसा ही बयान दिया था।

राष्ट्रविरोधियों को कैसे पहचानेंगे: जब उनसे पूछा गया कि राष्ट्रविरोधी छात्रों को पहचानने में मुश्किल नहीं होगी तो उन्होंने इससे इनकार किया। उन्होंने कहा कि मीडिया में उन लोगों का चेहरा पहले ही दिखाया जा चुका है। सबको पता है कि कौन देश के खिलाफ जा रहा है। उन्होंने दावा किया कि अॉटो ड्राइवर्स उन राष्ट्रविरोधियों को भी पहचान लेंगे, जिन्हें ज्यादा लोग नहीं जानते। उन्होंने कहा कि शायद आप लोगों को लगता है कि अॉटो वाले कुछ नहीं जानते, लेकिन एेसा नहीं है। हमें पता है कि लोग क्या बातें कर रहे हैं और कहां जा रहे हैं।

अगर ड्राइवर को लगता है कि कोई यात्री राष्ट्रविरोधी बातें कर रहा है तो वह तुरंत उसे उतरने को कह देगा। इतना ही नहीं वह इसकी पुलिस में भी रिपोर्ट करेगा। सोनी ने यह भी कहा कि वह किसी राजनीतिक पार्टी के लिए नहीं बोल रहे हैं। जब उनसे छात्रों के साथ एबीवीपी द्वारा की गई मारपीट के बारे में पूछा गया तो उन्होंने इस बारे में कुछ भी कहने से मना कर दिया और कहा कि इसमें कानून अपना काम करेगा।

 

दिल्ली: रामजस कॉलेज में ABVP-AISA के बीच हिंसक झड़प, हुई मारपीट; जानिए पूरा मामला,देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App