ताज़ा खबर
 

पूर्वी दिल्ली दंगा केस: कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्जशीट फाइल, पूर्व AAP नेता ताहिर हुसैन मास्टरमाइंड, 14 अन्य भी आरोपी

चार्जशीट में ताहिर हुसैन सहित 15 लोगों को आरोपी बनाया गया है। अब कोर्ट 16 जून को इस मामले की सुनवाई करेगा।

दिल्ली हिंसा मामले के आरोपी ताहिर हुसैन। (बीच में, पीटीआई फोटो)दिल्ली हिंसा मामले के आरोपी ताहिर हुसैन। (बीच में, पीटीआई फोटो)

उत्तर-पूर्वी दिल्ली के चांदबाग इलाके में सीएए विरोधी प्रदर्शन के दौरान भड़के दंगों के मामले में क्राइम ब्रांच ने मंगलवार (2 जून, 2020) को कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्जशीट फाइल की। चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने आप के पूर्व नेता ताहिर हुसैन को दंगों का मास्टरमाइंड बताया है। चार्जशीट में ताहिर हुसैन सहित 15 लोगों को आरोपी बनाया गया है। अब कोर्ट 16 जून को इस मामले की सुनवाई करेगा।

करीब एक हजार पन्नों की चार्जशीट में हुसैन के भाई शाह आलम को भी आरोपी बनाया गया है। पुलिस ने चार्जशीट में बताया कि हिंसा के वक्त आरोपी ताहिर हुसैन अपनी छत पर थे। उनपर हिंसा करवाने का भी आरोप लगा है। पुलिस के मुताबिक हिंसा कराने के लिए ताहिर ने एक करोड़ तीस लाख रुपए खर्च किए थे। चार्जशीट में कहा गया कि ताहिर ने हिंसा से पहले नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) के खिलाफ प्रदर्शन में शामिल लोगों से बातचीत की थी। ताहिर ने जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद से भी बात की थी।

Weather Forecast Today, Cyclone Nisarga LIVE Updates

चार्जशीट में कहा गया कि दिल्ली हिंसा की तैयारी पहले ही कर ली गई थी। ताहिर ने लोगों से बात की थी और तय किया गया जिस वक्त अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत दौरे पर आएंगे राजधानी में हिंसा कराई जाएगी। चार्जशीट में उमर खालिद आरोपी नहीं हैं।

Lockdown 5.0/Unlock 1 LIVE Updates

दिल्ली दंगों में आईबी कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या कर दी गई थी। हालांकि आज दाखिल की गई चार्जशीट का इससे लेना-देना नहीं है। शर्मा हत्या के मामले में अलग से चार्जशीट दाखिल की जाएगी। ताहिर हुसैन मुस्तफाबाद विधानसभा क्षेत्र के नेहरू विहार वार्ड से पार्षद हैं। हिंसा में नाम आने पर आप आलाकमान ने उन्हें तत्काल पार्टी से बर्खास्त कर दिया था।

बता दें कि दिल्ली दंगे से जुड़े मामले में कोर्ट में दिल्ली पुलिस की तरफ से अब सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता और उनकी लीगल टीम पैरवी करेगी। पहले इसको लेकर दिल्ली सरकार ने एतराज जताया था, लेकिन अब केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार ने इस पर आम सहमति बनाकर कोर्ट को बताया दिल्ली सरकार को तुषार मेहता और उनकी टीम द्वारा दिल्ली पुलिस की पैरवी करने को लेकर कोई एतराज नहीं है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्लीः इधर उपराज्यपाल के दफ्तर में 13 लोगों को कोरोना, उधर स्वास्थ्य मंत्री बोले- जल्द नहीं जाएगी ये बीमारी, एडवांस में कर रहे तैयारी