ताज़ा खबर
 

दिल्ली: 24 घंटे में कोरोना के 414 मामले, 60 मरीजों की मौत, संक्रमण की दर 0.53 फीसद पर आई

दिल्ली में इस समय कुल 6731 सक्रिय मामले हैं और 2855 मरीजों का इलाज घर में एकांतवास में किया जा रहा है। शनिवार को 77694 मरीजों की जांच की गई हैं।

कोरोना की दूसरी लहर में भी बड़ी संख्या में संक्रमित हो रहे नाबालिग। (प्रतीकात्मक फोटो- PTI)

कोरोना संक्रमण के नए मामलों से दिल्ली को राहत मिलनी शुरू हो गई है। शनिवार को दिल्ली में संक्रमण के 500 से कम 24 घंटे में कुल 414 नए मरीज सामने आए हैं और 60 मरीजों की मौत हुई है। वहीं दूसरी तरफ चार गुना से अधिक यानी 1683 इस दौरान ठीक होकर वापस अपने घर गए हैं। दिल्ली में इस समय कुल 6731 सक्रिय मामले हैं और 2855 मरीजों का इलाज घर में एकांतवास में किया जा रहा है। यहां 24 घंटे में संक्रमण की दर 0.53 फीसद आ गई है। शनिवार को 77694 मरीजों की जांच की गई हैं। इस समय अस्पताल में 3214, कोविड केयर सेंटर में 148, और कोविड हेल्थ सेंटर में 100 मरीजों का इलाज किया जा रहा है।

देश में कोरोना विषाणु संक्रमण के प्रतिदिन दर्ज होने वाले नए मामलों में लगातार कमी हो रही है। शनिवार रात पौने बारह बजे तक 33 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में कोरोना के 1,14,534 मामले सामने आए। इस दौरान संक्रमण की वजह से 2,669 लोगों की मौत हुई। ये आंकड़े राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के स्वास्थ्य विभागों की ओर से जारी किए गए थे। देश में शनिवार को तमिलनाडु में कोरोना के सबसे अधिक मामले दर्ज किए गए। तमिलनाडु स्वास्थ्य विभाग के मुताबित राज्य में कोरोना के 21,410 मामले दर्ज किए गए जबकि 443 लोगों की मौत हुई। तमिलनाडु के अलावा केरल में 17,328, कर्नाटक में 13,800, महाराष्ट्र में 13,659, आंध्र प्रदेश में 10,373, पश्चिम बंगाल में 7,682, ओड़ीशा में 7,395, असम में 3,781, तेलंगाना में 2,070, पंजाब में 1,907, जम्मू कश्मीर में 1,448, छत्तीसगढ़ में 1,356, उत्तर प्रदेश में 1,028, बिहार में 1,007, गुजरात में 996, राजस्थान में 942, हिमाचल प्रदेश में 818, हरियाणा में 723, मध्य प्रदेश में 718, मणिपुर में 717, त्रिपुरा में 708, उत्तराखंड में 619, पुदुचेरी में 613, गोवा में 567, मेघालय में 497, झारखंड में 478, दिल्ली में 414, अरुणाचल प्रदेश में 404, नगालैंड में 309, सिक्किम में 253, मिजोरम में 236, लद्दाख में 122 और चंडीगढ़ में 98 नए मामले समाने आए।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को घोषणा की कि संभावित तीसरी लहर की तैयारियों के मद्देनजर दिल्ली में बाल चिकित्सा कार्य बल, दो जीनोम अनुक्रमण प्रयोगशालाओं के साथ ऑक्सीजन क्षमता को भी बढ़ाया जाएगा। ऐसी आशंका है कि इस लहर के दौरान एक दिन में संक्रमण के 37000 मामले तक आ सकते हैं।

केजरीवाल ने एक डिजिटल ब्रीफिंग में कहा कि सरकार महत्वपूर्ण दवाओं के सुरक्षित भंडारण की सुविधा भी बनाएगी। उन्होंने कहा कि उन्होंने कोरोना वायरस की तीसरी लहर से निपटने के लिए शुक्रवार को अधिकारियों एवं विशेषज्ञों के साथ व्यापक योजना बनाने के उद्देश्य से छह घंटे तक बैठक की। तीसरी लहर के चरम के दौरान अगर संक्रमण के दैनिक मामलों की संख्या 37 हजार तक पहुंचती है तो सरकार तैयार होगी।

उन्होंने कहा, ‘दूसरी लहर के चरम के दौरान एक दिन में 28 हजार तक मामले सामने आए थे। विशेषज्ञों से हमारे परामर्श के आधार पर हम मानकर चल रहे हैं कि तीसरी लहर के चरम के दौरान 37 हजार तक मामले हो सकते हैं। इस संख्या को ध्यान में रखते हुए, हम अपने बिस्तरों, ऑक्सीजन क्षमता और दवाओं की उपलब्धताओं को बढ़ाएंगे।’ उन्होंने कहा कि सरकार 25 ऑक्सीजन टैंकर खरीद रही है और अगले कुछ हफ्तों में 64 ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित कर रही है जिससे यह सुनिश्चित हो कि दिल्ली को दूसरी लहर के दौरान जैसे ऑक्सीजन संकट का सामना करना पड़ा वैसा इस बार न हो।

Next Stories
1 दिल्ली: कल से सम-विषम आधार पर खुलेंगे बाजार, मेट्रो भी चलेगी; कुछ रियायतों के साथ 14 जून तक बढ़ी पूर्णबंदी
2 मुंबई के बाद अब देश की राजधानी दिल्ली में लग सकता है पेट्रोल का शतक, क्या कहते हैं एक्सपर्ट
3 भाजपा सांसद बोले- UN में भारत नहीं कर पाया वोट, फलस्तीन ने भी लताड़ा, पंचतंत्र के चमगादड़ जैसा हाल
ये पढ़ा क्या?
X