ताज़ा खबर
 

कोविड-19 के चलते नई बीमारी: आंख, नाक, जबड़ा और जान तक जा रही; गंगाराम अस्पताल में 15 दिन में 12 मामले

दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में कोविड के चलते गंभीर बीमारी के मरीज मिले हैं, जिसमें से 50 फीसदी की मौत हो गई। इस बीमारी के चलते मरीजों के जबड़े, नाक और दिमाग चला जाता है।

corona, covidकोरोना की वजह से जान ले रहा है फंगल इन्फेकेशन। (फाइल फोटो)

दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल के डॉक्टरों को कोविड के चलते कुछ बेहद गंभीर केस मिले हैं। डॉक्टरों का कहना है कि कोरोना की वजह से म्यूकोरमाइकोसिस फंगस डिवेलप हो रहा है जिसके परिणाम बहुत गंभीर होते हैं। इस वजह से मरीजों की दृष्टि चले जाना, जबड़े और नाक की हड्डी चली जाना और 15 दिन में ही दिमाग का क्षतिग्रस्त हो जाना शामिल हैं। इस केस में 50 प्रतिशत मरीजों की मौत हो जाती है।

म्यूकोरमाइकोसिस एक फंगस इन्फेक्शन है जो कि संक्रमित शरीर को भारी नुकसान पहुंचाता है। इम्युनिटी कम होने की वजह से यह संक्रमण विकसित हो जाता है। यह उन लोगों को ही ज्यादा होती है जिनको अन्य बीमारियां होती हैं।

अस्पताल में सीनियर ENT सर्जन मनीष मुंजल ने बताया, ‘कोविड के चलते होने वाले म्युकोरमाइकोसिस के केस जिस फ्रेक्वेंसी में मिल रहे हैं, वह खतरनाक है। अगर आंख और गाल में सूजन, नाक बंद होना, नाक में काला क्रस्ट जमा हो जाने जैसे लक्षण मिलते हैं तो तुरंत बायोप्सी करवाकर इलाज शुरू कर देना चाहिए।’ डॉक्टर ने कहा कि एक तरफ की नाक बंद होना, आंखों में सूजन या दर्द होने के बाद जांच करवाई जाती है और तुरंत इलाज करने से नुकसान को बचाया जा सकता है।

डॉक्टर के मुताबिक पहले बायीं नाक बंद हो जाती है और दो दिन के अंदर गाल और आंख सूज जाते हैं। अगर ऐसा होता है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। डॉ. मुंजल ने कहा, ‘एक मरीज को चेहरे के बाईं तरफ सूजन और सुन्न होने की शिकायत थी। उसे इमर्जेंसी में अस्पताल लाया गया। टेस्ट में पता चला कि उसका शुगर और इन्फेक्शन लेवल काफी ज्यादा। उससे ज्यादा गंभीर बात थी कि म्यूकर फंगस उसे संक्रमित कर चुका था। एमआरआई में पता चला कि आंख, ऊपरी जबड़ा क्षतिग्रस्त हो चुका है और इन्फेक्शन दिमाग तक पहुंच चुका है।’

डॉक्टर ने कहा कि सर्जन्स ने उसकी सर्जरी की और फिर उसे लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर दो सप्ताह तक रखा गया। डॉक्टर ने कहा कि शुरू में ही जानकारी होने पर जान बचाई जा सकती है। आई सर्जन ने बताया कि फंगल इन्फेक्शन आंख को प्रभावित करता है जिससे रोशनी भी जा सकती है। आंख का सीधा संपर्क दिमाग से होता है इसलिए इन्फेक्शन दिमाग तक हावी होने के चांसेज रहते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्‍ली मेरी दिल्‍ली
ये पढ़ा क्या?
X