ताज़ा खबर
 

दिल्ली: अपना बिजनेस करने के लिए बहन ने अपने भाई के कर में ही डलवाई डकैती, ऐसे खुला मामला

पुलिस की वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ब्रजेश अग्रवाल पत्नी रोहिणी और दो बच्चों के साथ एसी-ब्लॉक शालीमार बाग में रहते हैं।
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

दिल्ली के शालीमार बाग इलाके में एक शादीशुदा महिला ने प्रेमी संग मिलकर अपने ही भाई के घर में लूट की घटना को अंजाम दिया है। पूछताछ में महिला ने बताया कि उसने कर्ज चुकाने और नए कपड़े का व्यापार शुरू करने के लिए साजिश रची थी। शालीमार बाग पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उनके पास से एक तिजोरी, एक लाख छह हजार रुपये, एक सोने की अंगूठी, चोरी का मोबाइल फोन, एक पल्सर बाइक और ईको गाड़ी आदि बरामद की है।

पुलिस की वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ब्रजेश अग्रवाल पत्नी रोहिणी और दो बच्चों के साथ एसी-ब्लॉक शालीमार बाग में रहते हैं। शुक्रवार को उनके घर आदर्श नगर निवासी उनकी बहन आरती अग्रवाल आईं थीं। घटना दोपहर 3.30 बजे हुई। उस वक्त घर में रोहिणी, आरती और दोनों बच्चे मौजूद थे। उसी समय दो बदमाश घर में घुस आए, जिनमें से एक बदमाश ने हेलमेट पहन रखा था। उन्होंने रोहिणी के साथ मारपीट की और उसे जमीन पर गिरा दिया। इसके बाद आरोपी अलमारी में रखी तिजोरी और दो मोबाइल लेकर चारों को घर में बंदकर बाइक से फरार हो गये।

शालीमार बाग पुलिस ने मामले में सीसीटीवी फुटेज के आधार पर बाइक की पहचान कर ली है। पुलिस बाइक के मालिक के पास सीलमपुर में पहुंची। जहां से पूछताछ में पता चला कि साजिश का मुख्य आरोपी मोहम्मद खान है। पुलिस ने मोहम्मद खान को उसके निवास मजलिस पार्क से गिरफ्तार कर लिया है। मोहम्मद खान ने अपना गुनाह कबूलते हुए बताया कि इस षड्यंत्र में आरती भी शामिल थी। जिसके बाद पुलिस ने आरती सहित अन्य दो आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया है।

पूछताछ में पता चला कि आरती और मोहम्मद खान की पिछले एक महीने में करीब 500 बार फोन पर बात हुई थी। मोहम्मद खान और आरती तीन महीने से संबंध में हैं। उसकी दुकान पर आरती का आना-जाना था। दोनों व्यवसाय शुरू करने के लिए लूट की वारदात को अंजाम देना चाहते थे।

देखिए वीडियो - वीडियोः दिनदहाड़े बैंक से 10 लाख रुपये लूटने वालों का सीसीटीवी फूटेज आया सामने

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.