ताज़ा खबर
 

Coronavirus: राज्यों के आग्रह पर ‘क्वारंटाइन सेंटर’ बनने के लिए तैयार IIT बम्बई, दिल्ली IIT ने किया इंकार

आईआईटी बम्बई की आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘‘ कार्यकारी आदेश के माध्यम से कलेक्टर ने परिसर की कई इमारतों को सी श्रेणी के संदिग्ध अर्थात जो संक्रमित नहीं हैं और विदेश से लौटे हैं, के लिए अधिग्रहित किया है।’’

Author March 24, 2020 3:03 PM
कोरेंटाइन सेंसटर बनेगा आईआईटी बॉम्बे

कोरोना वायरस संक्रमण के लगातार बढ़ रहे मामलों के मद्देनजर कक्षाएं एवं परीक्षाएं स्थगित होने के बीच राज्यों के प्रशासन ने शैक्षणिक संस्थाओं से अनुरोध किया है कि वे अपने खाली हॉस्टलों को “क्वारंटाइन सेंटर” के तौर पर उपयोग करने की अनुमति दें। प्रतिष्ठित भारतीय प्रौद्योगिकी संसथान (आईआईटी) बम्बई ऐसा पहला संस्थान है जिसने इस आग्रह को स्वीकार किया है और इसके चार हॉस्टलों एवं गेस्ट हाउस को “क्वारंटाइन सेंटर” के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा है।

आईआईटी बम्बई की आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘‘ कार्यकारी आदेश के माध्यम से कलेक्टर ने परिसर की कई इमारतों को सी श्रेणी के संदिग्ध अर्थात जो संक्रमित नहीं हैं और विदेश से लौटे हैं, के लिए अधिग्रहित किया है।’’ इसमें कहा गया है कि इन अधिग्रहित इमारतों में वन विहार गेस्ट हाउस, एच-18 के साथ एच-8 (बी विंग) तथा एमटीएनएल गेस्ट रूम शामिल है।

हालांकि, दिल्ली प्राधिकार की ओर से किए गए इसी प्रकार के एक आग्रह को आईआईटी दिल्ली ने अस्वीकार कर दिया था और कहा था कि देश के विभिन्न क्षेत्रों के छात्र अपने घरों को चले गए हैं लेकिन अंतरराष्ट्रीय छात्र हॉस्टल में मौजूद हैं। बहरहाल, तेलंगाना के मौलाना आजाद राष्ट्रीय उर्दू विश्वविद्यालय में छात्रों एवं शिक्षकों के विरोध के बावजूद “क्वारंटाइन सेंटर” स्थापित किया गया है । वहीं उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में गौतम बुद्ध विश्विवद्यालय ने कोविड-19 के संदिग्ध एवं पुष्ट मामलों के लिये “क्वारंटाइन सेंटर” खोले हैं, जहां 150 लोगों को रखा जा सकता है।

इसी प्रकार से डाँ बाबा साहब भीमराव अंबेडकर मराठवाड़ा विश्वविद्यालय औरंगाबाद ने भी इसी प्रकार का सुविधा केंद्र खोला है। विश्वविद्यालय के प्रवक्ता संजा शिंदे ने कहा, ‘‘ जिला प्रशासन ने कोरोना वायरस के मद्देनजर विश्वविद्यालय के हॉस्टल को “क्वारंटाइन सेंटर” के रूप में उपयोग करने के बारे में सम्पर्क किया था और हम इस पर आगे बढ़ रहे हैं।’

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के मद्देनजर देशभर के शैक्षणिक संस्थानों में कक्षाएं एवं परीक्षाएं 31 मार्च तक स्थगित हैं। इससे पहले सोमवार को मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने नवोदय विद्यालयों को निर्देश दिया था कि वे अपने खाली हॉस्टलों को चिकित्सा सुविधा उपयोग के लिये स्थानीय प्रशासन को दें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 COVID-19 का प्रकोपः शाहीन बाग के बाद जामिया, सीलमपुर और जाफराबाद समेत 7 जगह CAA के खिलाफ धरना खत्म
2 Coronavirus का खतरा: लखनऊ में 66 दिन बाद CAA विरोधी प्रदर्शन से हटी महिलाएं, पर शाहीन बाग में डटीं, बदली रणनीति
3 Coronavirus: मणिपुर की महिला को ‘कोरोना’ बता थूका, दिल्ली पुलिस ने शख्स के खिलाफ दर्ज किया केस
यह पढ़ा क्या?
X