ताज़ा खबर
 

माकन की शिकायत पर फंसा एनडी गुप्ता के नामांकन में पेच

दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने गुप्ता को लाभ के पद पर काबिज करार देते हुए एक आपत्ति दायर कर उनके नामांकन को रद्द करने की मांग की।

Author नई दिल्ली | January 7, 2018 03:12 am
अजय माकन

आम आदमी पार्टी (आप) के राज्यसभा के तीन उम्मीदवारों में से एक एन डी गुप्ता के नामांकन में पेच फंस गया है। दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने गुप्ता को लाभ के पद पर काबिज करार देते हुए एक आपत्ति दायर कर उनके नामांकन को रद्द करने की मांग की। निर्वाचन अधिकारी ने गुप्ता को नोटिस जारी कर उनसे जवाब मांगा। जवाब में गुप्ता ने अपने पद को लाभ के पद के दायरे से बाहर बताया। देर शाम कांग्रेस की ओर से दायर की गई एक अन्य याचिका पर गुप्ता को एक और नोटिस जारी किया गया। इस मामले में निर्वाचन अधिकारी ने दोनों पक्षों को सोमवार सुबह अंतिम सुनवाई के लिए बुलाया है। उसी दिन गुप्ता के नामांकन को स्वीकार करने या खारिज करने पर फैसला होने की संभावना है।
माकन ने शनिवार सुबह निर्वाचन अधिकारी के पास दर्ज कराई अपनी आपत्ति में दावा किया कि गुप्ता वर्तमान में राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली ट्रस्ट के ट्रस्टी का पद संभाल रहे हैं। उन्हें 30 मार्च को इस पद पर नियुक्त किया गया था।

गुप्ता ने राज्यसभा के लिए आम आदमी पार्टी के दो अन्य उम्मीदवारों संजय सिंह और सुशील गुप्ता के साथ गत चार जनवरी को नामांकन पत्र दाखिल किया था। शनिवार को नामांकन पत्रों की जांच की गई जिसमें संजय सिंह व सुशील गुप्ता के नामांकन पत्र तो ठीक पाए गए लेकिन एनडी गुप्ता के नामांकन में पेच फंस गया। माकन ने दावा किया कि एनडी गुप्ता का नामांकन जनप्रतिनिधि कानून, 1951 की धारा 36 (जिसे संविधान के अनुच्छेद 102 के साथ पढ़ा जाए) के तहत खारिज होने योग्य है। दूसरी ओर, आप ने कहा कि कानून ट्रस्टियों को चुनाव लड़ने से नहीं रोकता। आप नेता राघव चड्ढा ने ट्वीट किया कि संसद (अयोग्यता रोकथाम) कानून, 1959 की धारा तीन, उपधारा (एल) ट्रस्टी को लाभ के पद के तहत अयोग्यता से छूट प्रदान करती है। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही निर्वाचन अधिकारी लाभ के पद पर निर्णय करने के लिए एक सक्षम प्राधिकार नहीं है, चुनाव आयोग है। खुद गुप्ता ने दोपहर तीन बजे निर्वाचन अधिकारी के सामने अपना जवाब पेश करने के बाद कहा कि उन्होंने दिसंबर में ही नेशनल पेंशन स्कीम ट्रस्ट के ट्रस्टी के पद से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने दावा किया कि उनका पद लाभ के पद के दायरे से बाहर है। उन्होंने जानकारी दी कि निर्वाचन अधिकारी ने उन्हें इस मामले में 48 घंटे में फैसला लेने का आश्वासन दिया है। इसके जवाब में माकन ने ट्वीट किया कि एनडी गुप्ता नेशनल पेंशन स्कीम ट्रस्ट के महज एक ट्रस्टी ही नहीं, बल्कि उसके चेयरमैन भी हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App