ताज़ा खबर
 

दिल्ली में फैलते डेंगू के मामलों पर कांग्रेस ने घेरा आप को

दिल्ली सरकार ने अपने पिछले साल के अनुभव से जिसमें 16000 डेंगू के मामले हुए थे कोई सबक नहीं सीखा।

Author नई दिल्ली | September 8, 2016 03:43 am
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतकिरण के लिए किया गया है।

प्रदेश कांग्रेस ने आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी (आप) की दिल्ली सरकार के समय पर तैयारियां पूरी न करने के कारण ही दिल्ली में डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया का प्रकोप फैला है। दिल्ली सरकार ने अपने पिछले साल के अनुभव से जिसमें 16000 डेंगू के मामले हुए थे कोई सबक नहीं सीखा। प्रदेश कांग्रेस की मुख्य प्रवक्ता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने पत्रकारों से कहा कि दिल्ली सरकार और नगर निगम में काबिज भाजपा एक-दूसरे पर आरोप मढ़ती हैं जिसके कारण दिल्ली के लोगों को परेशानियों से जूझना पड़ रहा है। पत्रकार सम्मेलन में पूर्व मंत्री किरण वालिया, निगम पार्षद अभिषेक दत्त और वरिष्ठ नेता चतर सिंह भी मौजूद थे।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में पानी से फैलने वाली बीमारियों का मुख्य कारण सरकार की मानसून की बारिश से पहले की जाने वाली तैयारियों की कमी और इस मामले में ठीक तरह से समन्वय स्थापित न कर पाना है। उन्होंने कहा कि नालों की डिसिल्टिंग 15 मई तक हो जानी चाहिए थी जो कि कांग्रेस के कार्यकाल में 15 मई तक पूरी हो जाती थी। लेकिन इस साल 5 जुलाई 2016 तक पीडब्लूडी रोड के नालों की डिसिल्टिंग का कार्य केवल 30 फीसद ही हो पाया था। जबकि दिल्ली में मानसून 29 जून को ही आ गया था। दिल्ली सरकार संबधित विभागों से समय पर समन्वय नहीं कर पाई थी जबकि उसे दिल्ली नगर निगम, केंद्र सरकार और प्रशासनिक अधिकारियों से लड़ने से फुर्सत नहीं थी। इसलिए उनके पास डिसिल्टिंग व पानी से होने वाली बीमारियों को रोकने का समय ही नहीं था।

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के आंकड़ों के हिसाब से इस साल 3 सितंबर को चिकनगुनिया के 560 मामले आ चुके थे जो सही तथ्य नहीं है। जबकि मामले बहुत ज्यादा हुए हैं। उन्होंने कहा कि जब कांग्रेस सत्ता में थी उस समय पानी से होने वाली बीमारियों के आंकड़ों को अस्पतालों से व्यवस्थित ढंग से इकट्ठे किए जाते थे। उन्होंने कहा कि तथ्यों के विपरीत दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया इन बीमारियों को लेकर बड़े-बड़े विज्ञापन देते हैं।.

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App