ताज़ा खबर
 

हरियाणाः कुरुक्षेत्र के चक्रव्यूह में उलझी कांग्रेस, मजबूत दावेदार नहीं

हरियाणा में पांच साल के दौरान कई चुनाव हारने वाले कांग्रेस पार्टी अभी भी चुनाव को लेकर गंभीर नहीं है। पार्टी नेताओं की एकजुटता जहां केवल परिवर्तन बस तक ही सिमट गई है वहीं कुरुक्षेत्र में पार्टी को अभी तक कोई मजबूत उम्मीदवार नहीं मिल रहा है।

Author चंडीगढ़ | April 18, 2019 1:30 AM
सुरजेवाला और नवीन जिंदल के मैदान से हटने के बाद अब कांग्रेस के पास इस सीट पर कोई प्रबल दावेदार नहीं है।

हरियाणा में पांच साल के दौरान कई चुनाव हारने वाले कांग्रेस पार्टी अभी भी चुनाव को लेकर गंभीर नहीं है। पार्टी नेताओं की एकजुटता जहां केवल परिवर्तन बस तक ही सिमट गई है वहीं कुरुक्षेत्र में पार्टी को अभी तक कोई मजबूत उम्मीदवार नहीं मिल रहा है। पार्टी के दो प्रबल दावेदार नवीन जिंदल और रणदीप सुरजेवाला मैदान छोड़ चुके हैं। आलम यह है कि अब पार्टी किसी पैराशूट प्रत्याशी पर दांव लगाने की तैयारी में है। हरियाणा में कांग्रेस के प्रत्याशियों की दूसरी सूची जारी होने में सबसे बड़ा रोड़ा कुरुक्षेत्र लोकसभा सीट बनी हुई है। उत्तरी हरियाणा में होने के कारण यह सीट पार्टी के लिए काफी अहम है लेकिन इस पर मजबूत दावेदार के अभाव में पार्टी सकते में है।

कुरुक्षेत्र से पिछले चुनाव में कांग्रेस के नवीन जिंदल चुनाव हार गए थे। इस बार भी उनके चुनाव लड़ने की प्रबल संभावनाएं थीं। उन्होंने पिछले सप्ताह यहां प्रचार भी शुरू कर दिया था। इस बीच उन्होंने कारोबारी प्रतिबद्धताओं के कारण लड़ने से इनकार कर दिया। इस सीट से दूसरे प्रबल दावेदार रणदीप सुरजेवाला थे। सुरजेवाला ने भी गत दिवस कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन करके साफ कर दिया कि कमर में दर्द की समस्या के कारण वे अगले दो माह तक बिस्तर पर रहेंगे। लिहाजा वे कुरुक्षेत्र से चुनाव नहीं लडे़गे।

सुरजेवाला के चुनाव लड़ने से इनकार करने के पीछे जींद की हार समेत कई राजनीतिक कारण हैं। सुरजेवाला और नवीन जिंदल के मैदान से हटने के बाद अब कांग्रेस के पास इस सीट पर कोई प्रबल दावेदार नहीं है। लिहाजा कांग्रेस किसी पैराशूट उम्मीदवार को चुनाव मैदान में उतारने की कवायद में है या फिर यहां से पूर्व मंत्री निर्मल सिंह सैनी तथा पूर्व सांसद कैलाशो सैनी का नाम चल रहा है।

पुत्र मोह में फंसीं हिसार और करनाल लोकसभा सीट
हरियाणा में कांग्रेस के लिए कुरुक्षेत्र के बाद करनाल और हिसार लोकसभा सीटों पर भी भारी पेच फंसा हुआ है। इन सीटों पर कांग्रेस नेताओं का पुत्र मोह आड़े आ रहा है। सूत्रों की मानें तो करनाल लोकसभा सीट से पार्टी पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एवं विधायक कुलदीप शर्मा को चुनाव मैदान में उतारना चाहती है लेकिन वे अपने बेटे चाणक्य शर्मा के लिए अड़े हुए हैं। कमोबेश ऐसी ही स्थिति हिसार की है। यहां पार्टी का ज्यादातर खेमा कुलदीप बिश्नोई को चुनाव मैदान में उतारना चाहता है लेकिन कुलदीप अपने बेटे भव्य बिश्नोई के लिए अड़े हुए हैं। हिसार में भव्य ने घोषणा से पहले बकायदा अपना घोषणा पत्र जारी करके प्रचार भी शुरू कर दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App