ताज़ा खबर
 

सभी 11 जिलों में करीब 25000 लोगों के बीच हुआ सर्वे, आधी दिल्ली में कोरोना के खिलाफ प्रतिरोधी क्षमता विकसित

कोरोना टीकाकरण के बीच दिल्ली में सामूहिक प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने के संकेत मिले हैं। हाल ही में दिल्ली सरकार ने दिल्ली में 5वां सीरो सर्वे करवाया है जो अब तक का सबसे बड़ा सीरो सर्वे है।

Author नई दिल्‍ली | Updated: January 26, 2021 11:57 AM
coronaसांकेतिक फोटो।

हालांकि इस सर्वे के नतीजों की आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है लेकिन सूत्रों के मुताबिक इस सर्वे के शुरुआती रुझान से यह बात साफ हो गई है कि दिल्ली की आधी अबादी में कोरोना विषाणु के खिलाफ प्रतिरोधी क्षमता विकसित हो गया है।

दिल्ली के सभी 11 जिलों में करीब 25000 लोगों के बीच हुए इस 5वां सीरो सर्वे के नतीजे चौंकाने वाले हैं। एक जिले में तो 60 फीसद लोग ऐसे पाए गए जिनमें कोरोना के खिलाफ प्रतिरोधी क्षमता मिली है। बाकी जिलों में भी यह फीसद 50 से ऊपर है।

नतीजे बताते हैं कि कुछ जिलों में भी 50 से 60 फीसद ऐसे लोग मिले जो कोरोना विषाणु के संपर्क में आए और ठीक भी हो गए। संकेत ये है कि दिल्ली की आधी से ज्यादा आबादी कोरोना के संपर्क में आकर ठीक भी हो चुकी है। जानकारों की माने तो दिल्ली सामूहिक प्रतिरोधक क्षमता की ओर बढ़ चली है।

सामूहिक प्रतिरोधक क्षमता का मतलब कोरोना के खिलाफ एक तरह की आंतरिक सुरक्षा से है, क्योंकि व्यक्ति के शरीर में कोरोना के खिलाफ प्रतिरोधी क्षमता बन गई हैं क्योंकि वो विषाणु-बीमारी के संपर्क में आ चुका है। बता दें कि अगर आबादी के पैंसठ से सत्तर फीसद हिस्से में कोरोना के खिलाफ इस तरह की सुरक्षा आ जाए तो इसे सामूहिक प्रतिरोधक क्षमता कहते हैं।

और सामूहिक प्रतिरोधक क्षमता आने से विषाणु गमन की कड़ी टूट जाती है। उसका फैलाव कम हो जाता है। उसका असर बहुत कम होने लगता है। बता दें कि सीरो सर्वे में व्यक्ति के शरीर से खून के नमूने लिए जाते हैं और देखा जाता है कि खून में कोरोना के खिलाफ प्रतिरोधी क्षमता बनी है या नहीं।

दिल्ली में पहला सीरो सर्वे जून-जुलाई में कराया गया था, जिसमें 23.4 फीसद लोगों में प्रतिरोधी क्षमता पाई गई जबकि अगस्त में 29.1 फीसद लोगों में प्रतिरोधी क्षमता मिली थी। इसके बाद सितंबर में 25.1 फीसद और अक्तूबर में 25.5 फीसद लोगों में प्रतिरोधी क्षमता मिली थी। पांचवें सर्वे में इसमें भारी इजाफा हुआ है और इसने करीब  आधी अबादी को छू लिया है ।

आंकड़ों के मुताबकि दिल्ली में औपचारिक रूप से अभी 6.33 लाख लोग ही संक्रमित पाए गए हैं। लेकिन सीरो सर्वे इशारा कर रहा है कि दिल्ली की आधी आबादी यानी करीब एक करोड़ से ज्यादा लोग अब तक कोरोना विषाणु के संपर्क में आ चुके हैं। इस बीच सोमवार को दिल्ली में कोरोना संक्रमण के 148 नए मामले सामने आए हैं।

स्वास्थ विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के मुताबिक बीते 24 घंटे में 190 मरीज ठीक हुए हैं, जबकि 5 लोगों की संक्रमण से मौत हो गई। इसी के साथ दिल्ली में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 634072 पहुंच गई है। इनमें से 621565 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं, जबकि कुल 10817 लोगों की मौत हो चुकी है। फिलहाल दिल्ली में कोरोना संक्रमण के 1964 सक्रिय मरीज हैं। इसके साथ ही संक्रमण की दर मामूली वृद्धि के साथ 0.30 फीसद दर्ज की गई।

Next Stories
1 दिल्ली पुलिस की पहल: ‘युवा’ योजना से बदल रहे तकदीर
2 विश्व परिक्रमा: दुनिया में कोरोना संक्रमितों की संख्या करीब 10 करोड़
3 दिल्‍ली मेरी दिल्‍ली
यह पढ़ा क्या?
X