ताज़ा खबर
 

ओमप्रकाश चौटाला से मिल कर पोतों ने दी सफाई

इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) के मुखिया ओमप्रकाश चौटाला के परिवार में चौधर को लेकर मची रार के थमने के आसार नहीं नजर आ रहे।

Author नई दिल्ली, 17 अक्तूबर। | October 18, 2018 5:05 AM
सांसद दुष्यंत चौटाला व छात्र संगठन इनसो अध्यक्ष दिग्विजय ने पार्टी प्रमुख चौटाला को डेढ़ पेज का एक संयुक्त स्पष्टीकरण सौंपा।

अजय पांडेय

इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) के मुखिया ओमप्रकाश चौटाला के परिवार में चौधर को लेकर मची रार के थमने के आसार नहीं नजर आ रहे। सांसद दुष्यंत चौटाला ने अपने भाई दिग्विजय चौटाला के साथ बुधवार को अपने दादा व पार्टी प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला से उनके निवास पर मुलाकात की। इस मौके पर हरियाणा विधानसभा में विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला भी मौजूद थे। इस पारिवारिक मुलाकात को लेकर बताया गया कि सांसद दुष्यंत चौटाला व छात्र संगठन इनसो अध्यक्ष दिग्विजय ने पार्टी प्रमुख चौटाला को डेढ़ पेज का एक संयुक्त स्पष्टीकरण सौंपा। इसमें दोनों युवा नेताओं ने कहा है कि बीते 7 अक्तूबर को गोहाना में हुई रैली के दौरान अभय सिंह की हूटिंग हुई लेकिन इससे उनका कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि यह बात ठीक है कि रैली में मौजूद लोगों ने दुष्यंत जिंदाबाद के नारे लगाए लेकिन किसी के खिलाफ कोई नारेबाजी नहीं की गई। ऐसे में उनके खिलाफ अनुशासनहीनता का कोई मामला नहीं बनता है। स्पष्टीकरण में यह भी दो टूक कहा गया है कि पार्टी के मुखिया ओमप्रकाश चौटाला को छात्र संगठन इनसो की कार्यकारिणी को भंग करने अथवा इसके अध्यक्ष पद से दिग्विजय चौटाला को हटाने का कोई अधिकार नहीं है क्योंकि यह संगठन पार्टी के आनुषांगिक संगठन के तौर पर चुनाव आयोग में पंजीकृत नहीं है।

दरअसल, गोहाना रैली के बाद इनेलो प्रमुख चौटाला ने दुष्यंत व दिग्विजय को पार्टी से निलंबित करते हुए उन्हें सात दिनों के भीतर अपनी सफाई पेश करने को कहा था। इसी के तहत दोनों युवाओं ने बुधवार को राजधानी के मीना बाग स्थित इनेलो प्रमुख के सरकारी निवास पर जाकर उन्हें अपनी सफाई पेश की। विपक्ष के नेता अभय सिंह इस मौके पर मौजूद थे। पार्टी प्रमुख को अपनी सफाई पेश करने के बाद दोनों नेता अपने पिता अजय सिंह चौटाला से मुलाकात करने तिहाड़ जेल पहुंच गए। इस मुद्दे पर पार्टी के किसी भी नेता ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। पार्टी सूत्रों का कहना है कि गोहाना रैली में अभय सिंह की हूटिंग को आधार बनाकर इनेलो प्रमुख ने अपने दोनों पोतों को निलंबन का नोटिस जरूर थमा दिया लेकिन पिछले कुछ दिनों में दुष्यंत के हरियाणा के अलग-अलग इलाकों में दौरों में उमड़ी भीड़ ने यह संकेत दे दिया है कि उन्हें सूबे के लोगों का जबरदस्त समर्थन मिल रहा है। ऐसे में ओमप्रकाश चौटाला के लिए भी उनके खिलाफ आनन फानन में कोई कार्रवाई करना आसान नहीं होगा।

फौरी तौर पर तिहाड़ से बाहर आए चौटाला गुरुवार को वापस तिहाड़ चले जाएंगे जबकि उनके बड़े बेटे व दुष्यंत व दिग्विजय के पिता अजय सिंह चौटाला के कुछ दिनों के लिए तिहाड़ से बाहर आने के संकेत हैं। उनके जेल से बाहर आने के बाद इस पूरे मामले में कुछ नई बातें सामने आ सकती हैं। इस बीच परिवार के रिश्तेदारों ने भी इस झगड़े को सुलझाने की अपनी स्तर पर कोशिशें तेज कर दी हैं।

दुष्यंत-दिग्विजय ने दिया जवाब, किसी के खिलाफ नारेबाजी नहीं

दरअसल, गोहाना रैली के बाद इनेलो प्रमुख चौटाला ने दुष्यंत व दिग्विजय को पार्टी से निलंबित करते हुए उन्हें सात दिनों के भीतर अपनी सफाई पेश करने को कहा था। इसी के तहत दोनों युवाओं ने बुधवार को राजधानी के मीना बाग स्थित इनेलो प्रमुख के सरकारी निवास पर जाकर उन्हें अपनी सफाई पेश की। विपक्ष के नेता अभय सिंह इस मौके पर मौजूद थे। पार्टी प्रमुख को अपनी सफाई पेश करने के बाद दोनों नेता अपने पिता अजय सिंह चौटाला से मुलाकात करने तिहाड़ जेल पहुंच गए। इस मुद्दे पर पार्टी के किसी भी नेता ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App