ताज़ा खबर
 

चिन्मयानंद के साथ खड़ी है भाजपा सरकार, मामले पर चुप क्यों हैं प्रधानमंत्री, कांग्रेस के आरोप

Chinmayanand case: मोदी जी, आपकी पार्टी की सरकार कार्रवाई क्यों नहीं कर रही है?" पार्टी नेता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा, '' महिला ने बोलने की हिम्मत दिखाई और कई बार बोली, लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की। लड़की परेशान होकर कहती है कि मैं आत्मदाह कर लूंगी। यह बहुत दुखद है।''

Author नई दिल्ली | Updated: September 19, 2019 4:34 PM
swami chinmayanand, uttar pradesh, crimeबीजेपी नेता चिन्मयानंद। फोटो सोर्स – Indian Express

Chinmayanand case: पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ बलात्कार के आरोप के मामले को लेकर कांग्रेस ने बृहस्पतिवार को उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर आरोपी के साथ खड़े होने का आरोप लगाया और सवाल किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं भाजपा की वरिष्ठ महिला नेता इस मामले पर चुप क्यों हैं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार बलात्कार के आरोपी पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद को उसी तरह से संरक्षण दे रही है। प्रियंका के अलावा कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव प्रणव झा ने संवाददाताओं से कहा, ”’उप्र की सरकार 300 दिनों पूरे करने जा रही है। लेकिन यह सरकार पीड़ित छात्रा की कोई सुध नहीं ले रही हैं।

मोदी जी, आपकी पार्टी की सरकार कार्रवाई क्यों नहीं कर रही है?” पार्टी नेता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा, ” महिला ने बोलने की हिम्मत दिखाई और कई बार बोली, लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की। लड़की परेशान होकर कहती है कि मैं आत्मदाह कर लूंगी। यह बहुत दुखद है।” उन्होंने सवाल किया, ” चिन्मयानंद के पीछे कौन है? उनकी मदद कौन कर रहा है? चिन्मयानंद की गिरफ्तारी क्यों नहीं हो रही है? यह सरकार कब तक तक मौन रखेगी? 300 दिनों का जश्न मनाने वाले योगी आदित्यनाथ चुप क्यों हैं? तितली उड़ाने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुप क्यों हैं? भाजपा की महिला नेता चुप क्यों हैं?” सुप्रिया ने यह आरोप भी लगाया कि भाजपा की सरकार आरोपी के साथ खड़ी है।

कांग्रेस प्रवक्ता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा, ” यह मामला बहुत गंभीर है। भाजपा के एक वरिष्ठ नेता के खिलाफ आरोप है। हमारा सवाल है कि क्या यह मामला उन्नाव मामले की दिशा में बढ़ रहा है? क्या भाजपा सरकार जानबूझकर पीड़िता को न्याय से उपेक्षित कर रही है?” शर्मिष्ठा ने आरोप लगाया, ” बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का खूब प्रचार किया जा रहा है। लेकिन इसके लिए बहुत कम बजट दिया गया और इसका भी ज्यादातर हिस्सा प्रचार एवं विज्ञापन और खर्ज किया गया। यह स्पष्ट है कि सरकार सिर्फ प्रचार पर ध्यान देती है।” गौरतलब है कि चिन्मयानंद के खिलाफ दुष्कर्म की रपट दर्ज न होने से नाराज छात्रा ने बुधवार सुबह इलाहाबाद उच्च न्यायालय का रुख किया। पीड़ित छात्रा का कहना है कि स्वामी की गिरफ्तारी नहीं हुई तो वह आत्महत्या कर लेगी।

Next Stories
1 केजरीवाल भी भारी जुर्माना लगाने की फिराक में, सम-विषम योजना के उल्लंघन पर लग सकता है 20,000 रुपए दंड
2 National Hindi Khabar, 18 September 2019 LIVE News Updates: दिल्ली में आज चक्काजाम! कैब मिलने में होगी मुश्किल; मेट्रो में दिखेगी भारी भीड़
ये पढ़ा क्या?
X