ताज़ा खबर
 

दिल्ली से पकड़ा गया छोटा शकील का गुर्गा, निशाने पर थे तारिक फतेह

पुलिस के मुताबिक, चौधरी ही शकील के अन्य गैंग सदस्यों और अंडरवर्ल्ड से जुड़े अपराधियों को अवैध रूप से हथियारों की आपूर्ति करता था।

तारीक फतेह अपने विवादित बयानों के लिए जाने जाते हैं। (Photo: Twitter)

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गुरुवार को गैंगस्टर छोटा शकील के शार्प शूटर को गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस को पता चला था कि छोटा शकील का सहयोगी जुनैद चौधरी पाकिस्तान में जन्मे कनाडाई लेखक तारिक फतेह को अपना निशाना बनाना चाहता था। स्पेशल सेल को सूचना मिली थी कि छोटा शकील का गूर्गा पश्चिमी दिल्ली के भागीरथ विहार फेज-1 के गगन सिनेमा के पास आने वाला है। सूचना के आधार पर पुलिस की संयु्क्त टीम ने मौके पर दबिश की। जहां से उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

पुलिस के मुताबिक, चौधरी ही शकील के अन्य गैंग सदस्यों और अंडरवर्ल्ड से जुड़े अपराधियों को अवैध रूप से हथियारों की आपूर्ति करता था। पुलिस के मुताबिक, जेल से रिहा होने के बाद चौधरी अंडरवर्ल्ड के अन्य अपराधियों के संपर्क में था।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, “अंडरवर्ल्ड का मशहूर सुपारी किलर चौधरी को पिछले साल जून में दिलशाद गार्डन से दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। इस दौरान चौधरी के तीन सहयोगियों रोजर रोजर रॉबिनसन, युनिस और मनीष के साथ गिरफ्तार किया था, जो गाजियाबाद में स्वामी चक्रपाणि की हत्या करने जा रहे थे।”

डीसीपी (स्पेशल सेल) पीएस कुशवाहा ने बताया कि जुनैद चौधरी को बीते रात गिरफ्तार किया गया है। हालांकि, चौधरी के साजिश के बारे में बताने से डीसीपी ने इनकार कर दिया। वहीं एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि चौधरी, लेखक तारिक फतेह को अपना निशाना बनाने की योजना बना रहा था। आपको बता दें कि तारीक फतेह अपने विवादित बयानों के लिए जाने जाते हैं। फिलहाल वो दिल्ली में नहीं हैं।

उल्लेखनीय है कि चौधरी दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में इससे पहले भी आ चुका है। पिछले साल चौधरी को हवाला पैसे और हथियार के साथ गिरफ्तार किया गया था। उस समय भी चौधरी छोटा शकील के संपर्क में था। लेकिन चार महीने बाद ही वह जमानत पर छूट गया। उस समय चौधरी हिंदू सभा प्रमुख स्वामी चक्रपाणी की हत्या की योजना बना रहा था।

देखिए वीडियो - अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन समेत 3 को फर्जी पासपोर्ट मामले में 7 साल जेल की सजा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App