दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के घर पहुंची सीबीआई, मनी लॉन्ड्रिंग केस में पत्नी से पूछताछ - Satyendra Jain Latest News: CBI Raided AAP Delhi Health Minister, Satyendra Kumar Jain at his Delhi Residence - Jansatta
ताज़ा खबर
 

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के घर पहुंची सीबीआई, मनी लॉन्ड्रिंग केस में पत्नी से पूछताछ

Satyendra Jain CBI Raid: सौरभ भारद्वाज ने कहा कि केंद्र सरकार सीबीआई के जरिए परेशान करने की कोशिश कर रही है।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Express Photo)

सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इंस्वेस्टिगेशन (सीबीआई) सोमवार को दिल्ली सरकार में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के घर पहुंची। सीबीआई ने सत्येंद्र जैन की पत्नी से मनी लॉन्ड्रिंग केस में पूछताछ की। इस पर आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा कि केंद्र सरकार सीबीआई के जरिए परेशान करने की कोशिश कर रही है। ऐसा करके आप की छवि खराब करने की कोशिश की जा रही है। इसके अलावा आम आदमी पार्टी ने ट्वीट के जरिए भी छापेमारी पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। AAP ने लिखा, “सत्येन्द्र जैन के जिन कर्मचारियों पे हवाला का आरोप लगा है एसे शख़्स इस दुनिया में है ही नहीं, IT व CBI अब तक उन्हें प्रस्तुत नहीं कर पाई है! जिस नम्बर से हवाला व्यापारियों को फोन करने का आरोप लगाया गया है वह नम्बर 2014 से बंद है व उसके पहले के रिकार्ड्स में भी ऐसी कोई कॉल नही है!”

बता दें कि इस महीने की शुरुआत में सीबीआई सत्येंद्र जैन से लगातार दो दिन तक इस मामले में पूछताछ कर चुकी है। पहले दिन उनसे आठ घंटे और दूसरे दिन पांच घंटे तक पूछताछ की गई थी। केंद्रीय जांच एजेंसी ने अप्रैल महीने में जैन के खिलाफ जांच शुरू की थी और उनके खिलाफ एक प्रारंभिक जांच दर्ज की थी। सीबीआई ने 4.63 करोड़ रुपये के धनशोधन के सिलसिले में साल 2015-16 के दौरान इकट्ठा किए गए सबूतों के आधार पर जैन के खिलाफ प्रारंभिक जांच दर्ज की थी।

उन्हें कोलकाता की कंपनियों प्रयास इंफो प्राइवेट लिमिटेड, अकीचंद डेवलपर्स तथा मेघालय प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड के माध्य से अपराध में शामिल होने का आरोपी बनाया गया है। जैन को उपरोक्त कंपनियों तथा दिल्ली की इंडो-मेटल इंडेक्स प्राइवेट लिमिटेड के माध्यम से साल 2010-12 के दौरान कुल 11.78 करोड़ रुपये के कथित धनशोधन का भी आरोपी बनाया गया है। आरोप है कि जैन ने अपने कर्मचारियों व सार्वजनिक सहोयोगियों के माध्यम से कोलकाता के इंट्री ऑपरेटर्स तथा शेल (नाम मात्र की) कंपनियों को नकदी में रकम दी। मामले को सीबीआई ने आयकर विभाग को सौंप दिया था, जिसने सितंबर 2016 में जैन को समन किया था।

टॉप 5 हेडलाइंस: भारत की हार के बाद कश्मीर में मना जश्न, महात्मा गांधी की अदालत पर रामदेव का कब्जा और अन्य खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App