ताज़ा खबर
 

दिल्ली: अदालत के बाहर कैदी की हत्या

गोली की आवाज सुनते ही अफरा-तफरी मच गई।

Author नई दिल्ली | April 30, 2017 2:33 AM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

दिल्ली की रोहिणी जिला अदालत के बाहर एक व्यक्ति ने शनिवार सुबह हत्या के मामले में विचाराधीन एक कैदी की गोली मारकर हत्या कर दी। आरोपी को मौके से दबोच लिया गया। हालांकि उसका दूसरा साथी मोटरसाइकिल से फरार हो गया। मारा गया कैदी राजेश फरीदाबाद से पेशी के लिए रोहिणी अदालत लाया गया था। घटना सुबह करीब 11 बजे की है और उसे 12.30 बजे दोबारा पेश होना था। रोहिणी के पुलिस उपायुक्त रिषि पाल के मुताबिक, राजेश को हत्या के मामले में दिसंबर 2016 में हरियाणा पुलिस ने गिरफ्तार किया था। शहर के बवाना थाने में ‘खराब चरित्र’ (बीसी) के लोगों की सूची में भी उसका नाम था। उसे अदालत में पेश करने के लिए हरियाणा पुलिस के जवान रोहिणी अदालत लाए थे। वह हत्या के आरोप में गिरफ्तार किए जाने के बाद से पड़ोसी राज्य में न्यायिक हिरासत में था। वहीं उपायुक्त ने कहा कि आरोपी मोहित हरियाणा के झज्जर का रहने वाला है। घटना अदालत के गेट नंबर-5 के पास उस समय हुई जब उसे पेशी के लिए अंदर ले जाया जा रहा था। मोहित ने घात लगाकर कैदी राजेश पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दीं।

गोली की आवाज सुनते ही वहां अफरा-तफरी मच गई। पुलिस ने तुरंत मोहित को गिरफ्तार कर लिया है। इस घटना के बाद भारी संख्या में पुलिस बल को अदालत परिसर के बाहर तैनात किया गया और राजेश को पास के आंबेडकर अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा है कि राजेश को पहले 11 बजे पेश किया गया था। अदालर्त ने उसे दोबारा 12.30 बजे पेश होने का आदेश दिया। इस बीच अदालत के गेट नंबर-5 से पुलिस राजेश को बाहर लेकर निकली, तभी मोहित नाम के व्यक्ति ने उस पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। शुरुआती जांच में मामला गैंगवार का लग रहा है। बताया जा रहा है कि मारा गया राजेश नीरज बबानियां गिरोह का एक शातिर सदस्य था। उसे हत्या के एक मामले में बीते साल दिसंबर में आगरा से गिरफ्तार किया गया था और तब से वह हरियाणा पुलिस की हिरासत में था। शनिवार को उसे पेशी के लिए झज्जर पुलिस दिल्ली लेकर आई थी। पुलिस हत्या के पीछे के कारणों का पता लगा रही है और दूसरे फरार आरोपी की तलाश के लिए दबिश दे रही है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App