ताज़ा खबर
 

उबर ने दुष्कर्म पीड़िता को भेजा ईमेल, कहा-हम दिल्ली में फिर आ गए हैं

कैब कंपनी ‘उबेर’ के एक चालक द्वारा कार में दुष्कर्म की शिकार हुई पीड़ित महिला इस बात से काफी नाराज़ है कि कंपनी ने उसे भेजे ईमेल में यह बात कही है कि राष्ट्रीय राजधानी की सड़कों पर ‘उबेर’ कंपनी फिर से लौट रही है। 25 वर्षीय पीड़ित महिला के वकील ने डगलस विग्डर ने […]

Author Updated: January 24, 2015 11:16 AM

कैब कंपनी ‘उबेर’ के एक चालक द्वारा कार में दुष्कर्म की शिकार हुई पीड़ित महिला इस बात से काफी नाराज़ है कि कंपनी ने उसे भेजे ईमेल में यह बात कही है कि राष्ट्रीय राजधानी की सड़कों पर ‘उबेर’ कंपनी फिर से लौट रही है।

25 वर्षीय पीड़ित महिला के वकील ने डगलस विग्डर ने अंग्रेज़ी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि पीड़िता और उसका परिवार इस बात से बेहद नाराज है कि उबेर कंपनी ने उन्हें मेल भेजा। उन्होंने इस बात पर भी खेद जताया कि उबेर सर्विस दिल्ली में फिर से वापसी कर रही है और वो भी जरूरी प्रक्रिया को पूरी किए बिना।

उबर ने दिल्ली में फिर शुरू की कैब सेवा :

टैक्सी बुक करने की सुविधा देने वाली अमेरिकी कंपनी उबर ने राष्ट्रीय राजधानी में अपनी सेवाएं दोबारा शुरू कर दी हैं। कंपनी केवल उन्हीं ड्राइवरों को नौकरी पर रखेगी जिनकी पृष्ठभूमि का सत्यापन हाल ही में पुलिस ने किया है। कंपनी ने रेडियो टैक्सी आपरेटर के तौर पर सेवाएं देने के लिए लाइसेंस के लिए आवेदन किया है।

उबर ने कहा, ‘वह दिल्ली में आपको सेवा देने के लिए वापस आ गई है।’ कंपनी के अधिकारियों ने कहा कि लोग उसके एप्स के जरिए कैब बुक कर सकते हैं। उबर टेक्नोलॉजीज ने अपने कारोबारी मॉडल में बदलाव करते हुए एक ऐसे कार्यक्रम के तहत लाइसेंसधारी आपरेटर बनने के लिए आवेदन किया है, जिसके तहत आपरेटरों को वाहन में उपग्रह निगरानी उपकरण लगाना और एक केंद्रीय नियंत्रण कक्ष का इस्तेमाल करना आवश्यक है। कंपनी ने बीती 21 जनवरी को लाइसेंस के लिए आवेदन किया।

उबर अभी तक कहती रही है कि वह एक प्रौद्योगिकी सेवा प्रदाता है जो ड्राइवरों को संभावित ग्राहकों से जोड़ती है और वह एक टैक्सी कंपनी नहीं है।

सैन फ्रांसिस्को स्थित कंपनी ने एक बयान जारी कर कहा कि वह ऐसे ड्राइवरों को नौकरी पर रखेगी जिनके द्वारा आवेदन किए जाने के छह सप्ताह पहले उनकी पृष्ठभूमि का सत्यापन पुलिस कर चुकी है।

कंपनी अपने सभी ड्राइवरों की पृष्ठभूमि की स्वतंत्र रूप से जांच करेगी और यात्री की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए वाहनों के दस्तावेज की भी जांच करेगी। इसके अलावा, एक इन-एप आपात बटन जैसी अतिरिक्त सुरक्षा विशेषताओं व देश भर में दुर्घटना की स्थिति में निपटने के लिए एक समर्पित टीम भी लगाई जाएगी।

अमेरिका के बाहर भारत उबर के लिए सबसे बड़ा बाजार है। कंपनी के मुताबिक, रेडियो कैब फर्मों के पास 200 वाहनों का बेड़ा होना आवश्यक है। साथ ही उनके पास 24 घंटे का कॉल सेंटर और उनके वाहनों में पैनिक बटन भी होना आवश्यक है।

दुष्कर्म पीड़ित के वकील ने कहा : उबर के सुरक्षा उपायों से आश्वस्त नहीं

उबर दुष्कर्म मामले की पीड़ित के वकील ने दिल्ली में टैक्सी सर्विस के पुन:प्रवेश पर आज आश्चर्य जताया और कहा कि उन्हें इस बात का भरोसा नहीं है कि कंपनी ने ‘‘भारत केंद्रित सुरक्षा उपाय’’ लागू किए जाने का जो आश्वासन दिया है, उससे यात्रियों पर एक और हमला रुक जाएगा।

डगलस विडगोर ने कहा कि उबेर ने उनके मुवक्किल को सीधे ईमेल करने की ‘‘धृष्टता’’ की जिसमें उसने कहा है कि वह दिल्ली के बाजार में फिर से आ गयी है। युवती के साथ दुखद घटना के कुछ दिनों के बाद ही और उबर के चालक की सुनवाई के दौरान यह ईमेल किया गया।

उन्होंने कहा कि हम इस घटनाक्रम से चकित हैं क्योंकि हमने उबर के सामने यह स्पष्ट कर दिया है कि दुष्कर्म पीड़ित सुरक्षा उपायों से संबंधित बातचीत प्रक्रिया में हिस्सा बनना चाहती है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि उबर चालक के हाथों कोई और पीड़ित नहीं हो।

विडगोर ने कहा कि दुखद है कि ऐसा नहीं हो सका और हमें कोई भरोसा नहीं है कि कथित भारत केंद्रित सुरक्षा उपायों से और हमले रूकेंगे।

विडगोर न्यूयार्क के एक प्रसिद्ध वकील हैं और छह दिसंबर को नयी दिल्ली में उबर के एक चालक द्वारा कथित दुष्कर्म की पीड़ित ने उनकी सेवाएं ली हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 आडवाणी, अमिताभ, रामदेव और रजनीकांत को गणतंत्र दिवस पर मिल सकता है पद्म अवॉर्ड
2 आंतरिक कलह से ग्रस्त है कांग्रेस : भाजपा
3 सुनंदा पुष्कर हत्याकांड: दिल्ली पुलिस ने कुछ पत्रकारों से की पूछताछ
ये पढ़ा क्या?
X