ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान के साथ ‘जवाबी कव्वाली’ पर सफाई दे कांग्रेस : भाजपा

भाजपा ने कांग्रेस पार्टी द्वारा आरएसएस पर निशाना साधने की तुलना संगठन के बारे में संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के एक बयान से करने का प्रयास करते हुए विपक्षी पार्टी से सवाल किया कि वह पाकिस्तान के साथ कांग्रेस के नेताओं की ‘जवाबी कव्वाली’ को स्पष्ट करे।

Author नई दिल्ली, 1 अक्तूबर। | October 2, 2018 10:32 AM
त्रिवेदी ने कांग्रेस से सवाल किया कि क्या आपको राजनीतिक विरोध और राष्ट्र विरोध में अंतर समझ में नहीं आता है?

भाजपा ने कांग्रेस पार्टी द्वारा आरएसएस पर निशाना साधने की तुलना संगठन के बारे में संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के एक बयान से करने का प्रयास करते हुए विपक्षी पार्टी से सवाल किया कि वह पाकिस्तान के साथ कांग्रेस के नेताओं की ‘जवाबी कव्वाली’ को स्पष्ट करे। भाजपा प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने संवाददाताओं से बातचीत में आरोप लगाया कि वही शक्तियां जो प्रधानमंत्री मोदी के विरोध में अंतराष्ट्रीय स्तर पर खड़ी हैं, उन्हीं जैसे शब्दों और भाषा का कांग्रेस इस्तेमाल कर रही है। उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक पर पाकिस्तान भी सबूत मांगता था और कांग्रेस भी मांगती है। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस को सोचना होगा कि वह भाजपा का विरोध करते करते भारत के विरोध में चली जाती है।

त्रिवेदी ने कांग्रेस से सवाल किया कि क्या आपको राजनीतिक विरोध और राष्ट्र विरोध में अंतर समझ में नहीं आता है? उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस की सोच पूरी तरह से विकृत हो गई हैं। त्रिवेदी ने कहा कि पहली बार कांग्रेस पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज द्वारा संयुक्त राष्ट्र में दिए गए बयान की प्रत्यक्ष रूप से आलोचना की। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि ये भारत की स्थापित परंपरा का न सिर्फ विरोध है बल्कि ये पाकिस्तान के साथ हमकदम होते दिख रहे हैं। उन्होंने कहा कि शशि थरूर ‘हिंदू पाकिस्तान’ शब्द का प्रयोग करते थे, आज सीधे-सीधे पाकिस्तान के साथ खड़े नजर आ रहे हैं। उन्होंने सवाल किया कि पाकिस्तान के साथ कांग्रेस के नेताओं की जो जवाबी कव्वाली चल रही हैं, उसे पार्टी स्पष्ट करे।

संयुक्त राष्ट्र में हाल ही में पाकिस्तान के एक राजनयिक ने आरएसएस को फासीवादी और समाज को तोड़ने वाला संगठन बताया था। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मानसरोवर यात्रा का जिक्र करते हुए त्रिवेदी ने कहा कि राहुल गांधी मानसरोवर यात्रा से लेकर प्रयागराज जाते जाते अपने असली रंग में आ गए हैं। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि वे किसी भी मायने में शिवभक्त नहीं हैं। उन्होंने कहा कि प्रयाग से एक खबर आई है कि वहां तीन कांग्रेस कार्यकर्ताओं को ‘हर हर महादेव’, ‘बम बम भोले’ का घोष करने के कारण पार्टी से निष्कासित कर दिया गया। इससे स्पष्ट है कि राहुल गांधी को शिवभक्त के रूप में पेश करना फर्जी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X