ताज़ा खबर
 

बाबा रामदेव से मिले अमित शाह, योग गुरु बोले- पीएम मोदी ने करोड़ों मांओं के आंसू पोछे

बाबा रामदेव ने कहा कि बचपन में वो भी खाना बनाते वक्त धुएं से जुझती अपनी मां को देखा करते थे। इस दौरान उनकी मां की आंखों से आंसू निकल जाते थे। बाबा रामदेव ने कहा कि इसकी वजह से उनकी मां की आंखें कमजोर हो गई थी।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बाबा रामदेव के आश्रम में गौसेवा की। (फोटो-twitter/@yogrishiramdev)

योग गुरु बाबा रामदेव ने अमित शाह की मौजूदगी में नरेंद्र मोदी सरकार की खूब प्रशंसा की है। बाबा रामदेव ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने देश की करोड़ों मांओं के आंसू पोछे हैं। बाबा रामदेव केन्द्र की उज्ज्वला योजना की तारीफ कर रहे थे। दरअसल बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने आज (4 जून) योग गुरु बाबा रामदेव से मुलाकात की। अमित शाह नरेंद्र मोदी सरकार के चार साल पूरा होने के मौके पर संपर्क फॉर समर्थन अभियान के तहत देश के गणमान्य नागरिकों से मुलाकात कर रहे हैं। इसी सिलसिले में आज वे योग गुरु बाबा रामदेव के दिल्ली स्थित पतंजलि आश्रम पहुंचे। अमित शाह ने बाबा रामदेव से अपनी सरकार के लिए रामदेव से समर्थन मांगा। बाबा रामदेव और अमित शाह मुलाकात के बाद जब मीडिया से रु-बरू हुए तो बाबा ने मोदी सरकार की तारीफों के पुल बांध दिये। रामदेव ने कहा कि बचपन में वो भी खाना बनाते वक्त धुएं से जुझती अपनी मां को देखा करते थे। इस दौरान उनकी मां की आंखों से आंसू निकल जाते थे। बाबा रामदेव ने कहा कि इसकी वजह से उनकी मां की आंखें कमजोर हो गई थी।

योग गुरु ने कहा कि ऐसी करोड़ों मांओं की आंखों के आंसू को मोदी सरकार ने उज्ज्वला योजना के जरिये गैस सिलेंडर देकर पोछा है। उन्होंने कहा कि विदेश में पीएम नरेंद्र मोदी को जितना सम्मान मिल रहा है। इतना प्यार और सम्मान किसी नेता को नहीं मिला है। बाबा रामदेव ने कहा कि पीएम  मोदी ने योग को पूरी दुनिया में लोकप्रिय बनाया। उन्होंने सड़क निर्माण के क्षेत्र में सरकार के काम की तारीफ की। बाबा रामदेव ने कहा कि नरेंद्र मोदी रोजाना 18-18 घंटे काम करते हैं।  योग गुरु ने कहा कि सरकार ने चार में कितना काम किया है सब जानते हैं।इस मौके पर अमित शाह ने कहा कि पार्टी पिछले चार साल के काम काज का हिसाब घर-घर जाकर दे रही है। संपर्क फॉर समर्थन अभियान के तहत अमित शाह पूर्व आर्मी चीफ दलबीर सुहाग और क्रिकेटर कपिलदेव से भी मुलाकात कर चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App