ताज़ा खबर
 

नई पार्टी पंजीकृत कराई, एलान जल्द : राजकुमार सैनी

हरियाणा के कुरुक्षेत्र से भाजपा सांसद राजकुमार सैनी ने शुक्रवार को कहा कि उन्होंने अपनी नई पार्टी पंजीकृत करा ली है और वे इसका एलान बहुत जल्द करेंगे।

Author नई दिल्ली, 13 जुलाई। | July 14, 2018 7:34 AM
नई पार्टी बनाने के बारे में पूछने पर खुद भाजपा सांसद सैनी ने कहा कि यह बिल्कुल सही है कि उन्होंने अपनी नई पार्टी पंजीकृत करा ली है और वे जल्द ही अपनी नई पार्टी की घोषणा प्रेस वार्ता में करेंगे।

हरियाणा के कुरुक्षेत्र से भाजपा सांसद राजकुमार सैनी ने शुक्रवार को कहा कि उन्होंने अपनी नई पार्टी पंजीकृत करा ली है और वे इसका एलान बहुत जल्द करेंगे। दूसरी ओर केंद्रीय मंत्री व गुड़गांव के सांसद राव इंद्रजीत के भी अलग पार्टी बनाने की अटकलें लगाई जा रही हैं। घटनाक्रम पर कांग्रेस ने कहा कि सैनी के तीखे बयानों के बावजूद भाजपा उनके खिलाफ इसलिए कार्रवाई नहीं कर पा रही क्योंकि अब उसे लोकसभा में अल्पमत में आने का खतरा साफ नजर आने लगा है। हिसार से इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने शुक्रवार को लोहारू में कहा कि राव इंद्रजीत व सैनी ने अपनी अलग-अलग पार्टियां चुनाव आयोग में पंजीकृत कराई हैं और आने वाले कुछ दिनों में बाकी पांच सांसद भी अपनी नई पार्टी बना लेंगे।

नई पार्टी बनाने के बारे में पूछने पर खुद भाजपा सांसद सैनी ने कहा कि यह बिल्कुल सही है कि उन्होंने अपनी नई पार्टी पंजीकृत करा ली है और वे जल्द ही अपनी नई पार्टी की घोषणा प्रेस वार्ता में करेंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि सूबे में उनके समर्थकों को तंग किया जा रहा है और प्रजातंत्र कुछ परिवारों की जागीर बनकर रह गया है। सैनी के नई पार्टी पंजीकृत कराने के मुद्दे पर कांग्रेस के मीडिया विभाग के प्रमुख व हरियाणा सरकार के पूर्व मंत्री रणदीप सिंह सुरजेवाला ने राजधानी स्थित पार्टी मुख्यालय में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि सांसद सैनी यह भी कह चुके हैं कि पूरे देश में 80 फीसद से अधिक भाजपा के सांसद और विधायक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चुनाव ही नहीं लड़ना चाहते।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XA1 Dual 32 GB (White)
    ₹ 17895 MRP ₹ 20990 -15%
    ₹1790 Cashback
  • JIVI Revolution TnT3 8 GB (Gold and Black)
    ₹ 2878 MRP ₹ 5499 -48%
    ₹518 Cashback

सुरजेवाला ने कहा कि असल में सैनी के बहाने भाजपा की छटपटहाट समझ आ रही है कि वह लोकसभा में पहले ही 272 के बहुमत के आंकड़े के नीचे पहुंच चुकी है और उसे यह डर सता रहा है कि अविश्वास प्रस्ताव लाए जाने की सूरत में कही सहयोगी भी न भाग जाएं और सरकार अपना कार्यकाल ही नहीं पूरा कर पाए। सनद रहे कि केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत ने वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस छोड़ने के बाद हरियाणा इंसाफ पार्टी बनाई थी लेकिन भाजपा में शामिल होने के साथ ही उन्होंने अपनी इस पार्टी का भाजपा में विलय कर दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App