ताज़ा खबर
 

केजरीवाल को मौकापरस्त और भ्रष्ट मानते हैं आप के विधायक: भाजपा

बातचीत से यह स्पष्ट है कि केजरीवाल के विधायक उनसे पूरी तरह असंतुष्ट हैं और उन्हें एक मौकापरस्त व भ्रष्ट नेता मानते हैं।

Punjab Poll, Punjab Assembly Electionsआप संयोजक अरविंद केजरीवाल और आप नेता भगवंत मान। (फोटो- PTI)

दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता अशोक गोयल और नवीन कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल में किसी भी तरह के नैतिक मूल्य नहीं बचे हैं और उनके लिए राजनीतिक पद अपनी प्रतिष्ठा से कहीं ऊपर है। भाजपा प्रवक्ताआें ने पत्रकारों को आप सरकार के पूर्व मंत्री आसिम अहमद और विधायकों अमानतुल्लाह खान व सहीराम पहलवान के बीच की एक बातचीत का आॅडियो क्लिप सुनाया और कहा कि इस बातचीत से यह स्पष्ट है कि केजरीवाल के विधायक उनसे पूरी तरह असंतुष्ट हैं और उन्हें एक मौकापरस्त व भ्रष्ट नेता मानते हैं।

भाजपा नेताओं का कहना है कि केजरीवाल जैसा भ्रष्ट और निर्लज्ज मुख्यमंत्री आज से पहले किसी भी राज्य में नहीं हुआ जो कि लगातार भ्रष्टाचारियों को बढ़ावा देकर दूसरों पर आरोप लगाते रहते हैं। अगर केजरीवाल भ्रष्टाचार के मामले में अपने मंत्रियों को हटा देते हैं तो उनको आम आदमी पार्टी में क्यों रखा है। केजरीवाल दिल्लीवासियों की गाढ़ी कमाई पर ऐश कर रहे हैं और ईमानदारी का नकली चोला पहनकर दिल्ली ही नहीं बल्कि देश की जनता को बरगलाने का काम कर रहे हैं।

अशोक गोयल और नवीन कुमार ने कहा कि इससे पहले आप विधायक कर्नल देवेंद्र सहरावत और पंकज पुष्कर भी मुख्यमंत्री पर भ्रष्टाचार व अनियमितताओं के आरोप लगा चुके हैं लेकिन मुख्यमंत्री ने न तो कभी आरोपों का जवाब दिया है और न ही उन्हें नकारा, ऐसे में दिल्ली की जनता यह मानने को बाध्य है कि केजरीवाल पर लगे आरोप तथ्यों पर आधारित हैं, इसी कारण में वह इनका जवाब नहीं दे रहे। दूसरी तरफ जितेंद्र सिंह तोमर और संदीप कुमार जैसे पूर्व मंत्रियों पर आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं, उन पर भी केजरीवाल ने आज तक कोई कार्रवाई नहीं की है।

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पंजाब चुनाव के नतीजे तय करेंगे दिल्ली नगर निगमों का भविष्य
2 सिखों की राजनीति में भी उतरी आम आदमी पार्टी, सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के चुनाव में उतारा पंथक दल
3 एमफिल और पीएचडी के दाखिले में इंटरव्यू को लेकर कठघरे में जेएनयू प्रशासन
ये पढ़ा क्या?
X