ताज़ा खबर
 

दिल्ली: ऑटोरिक्शा में ‘आप’ की जगह लगेंगे भाजपा के पोस्टर

दिल्ली में विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा भी पूरी तैयारी के साथ चुनाव में पूर्ण बहुमत के लिए जोर लगा रही है। ऐसे में चुनाव प्रचार के लिए भाजपा ने आप पार्टी का दांव आजमाया है। भाजपा ने आगामी चुनाव […]

Author January 4, 2015 12:33 PM
सतीश उपाध्याय ने कहा, “ऑटोरिक्शा संघ ने यह निर्णय लिया है कि ऑटो के पीछे लगे अरविंद केजरीवाल की पार्टी आप के पोस्टर हटाए जाएंगे। (एक्सप्रेस फ़ोटो-प्रेम नाथ पांडेय)

दिल्ली में विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा भी पूरी तैयारी के साथ चुनाव में पूर्ण बहुमत के लिए जोर लगा रही है। ऐसे में चुनाव प्रचार के लिए भाजपा ने आप पार्टी का दांव आजमाया है। भाजपा ने आगामी चुनाव में पार्टी के प्रचार के लिए ऑटोरिक्शा को अपना जरिया बनाया है। ज्ञात हो कि पिछले विधानसभा चुनाव में आप पार्टी ने ऑटोरिक्शा के पीछे पार्टी पोस्टर के जरिए अपने अभियान को जोरदार अंजाम तक पहुंचाया था। लेकिन इस बार भाजपा आप पार्टी के इस हथियार को उसी के ऊपर आजमाने की तैयारी कर रही है।

दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने कहा, “ऑटोरिक्शा संघ ने यह निर्णय लिया है कि ऑटो के पीछे लगे अरविंद केजरीवाल की पार्टी आप के पोस्टर को हटाकर वहां नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा के संदेश के पोस्टर लगाएगी।”

एक स्थानीय ऑटोरिक्शा संघ ने भी यह बात कही। ऑटोरिक्शा संघ का नेतृत्व कर रहे संजय चावला ने बताया कि उनसे जुड़े सभी ऑटोरिक्शा भाजपा के चुनाव प्रचार में लगाए जाएंगे। उन्होंने यह भी कहा सभी ऑटो में भाजपा के पोस्टर लगेंगे।

एक रिक्शा चालक ने आप पार्टी पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए उससे अपनी नाराजगी जताई और कहा कि उन्होंने जो वादा किया था उसे पूरा नहीं किया।

गौ़रतलब है कि फिलहाल आप के उम्मीदवार मोबाइल पोस्टर के जरिए अपना प्रचार अभियान चला रही है। ऐसे में आप पार्टी के अरविंद केजरीवाल और भाजपा के जगदीश मुखी के बीच मुकाबवा जबर्दस्त होने की उम्मीद है।

ऑटोरिक्श संघ से जुड़े चावला ने दावा किया कि राजधानी में चल रहे करीब 31,000 ऑटोरिक्शा उनके संघ से जुड़े हैं। दिलचस्प बात यह भी है कि चावला ने ही बुराड़ी में आप पार्टी की रैली का आयोजन किया था। उसने कहा कि दो साल तक आप पार्टी के लिए काम करने के बावजूद कभी भी उनके मुद्दों को प्राथमिकता नहीं दी गई।

चावला ने कहा, “आप के कार्यकर्ताओं ने ऑटोचालकों के साथ सही व्यवहार नहीं किया, बावजूद इसके कि हमने पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान आप पार्टी के प्रचार अभियान में प्रमुख भमिका निभाई थी।” उन्होंने बताया कि आप पार्टी से नाराज होकर हमने आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा को समर्थन देने का फैसला किया है क्योंकि उन्होंने हमसे वादा किया है कि वे हमारी समस्याओं को प्रमुखता से उठाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App