ताज़ा खबर
 
title-bar

बैंकों के खातेदारों को जागरूक मतदाता बनाने की कवायद

मतदाताओं को अपना मताधिकार प्रयोग करने को प्रेरित करने और दिल्ली में मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए जिला स्तरीय निर्वाचन कार्यालय तरह-तरह के प्रयोग कर रहे हैं।

Author नई दिल्ली | April 23, 2019 11:44 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर

मतदाताओं को अपना मताधिकार प्रयोग करने को प्रेरित करने और दिल्ली में मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए जिला स्तरीय निर्वाचन कार्यालय तरह-तरह के प्रयोग कर रहे हैं। दिल्ली के उत्तर-पश्चिम जिला में बैंकों के जरिए ऐसा ही प्रयोग किया जा रहा है जिसके तहत सभी बैंकों की पर्चियों पर 12 मई को मतदाताओं से मतदान करने की अपील की गई है। उत्तरी-पश्चिमी दिल्ली जिला के सभी बैंकों के लेन-देन संबंधी पर्चों पर वहां के जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा अपील की मोहर लगी है। अपील में कहा गया है कि मतदाता दिल्ली में लोकसभा चुनाव के लिए 12 मई को होने वाले मतदान में अपना वोट जरूर डालें। उत्तर-पश्चिम जिले के निर्वाचन अधिकारी सत्येंद्र सिंह दुरसावत ने कहा कि उनके क्षेत्र में बैंकों की लगभग 150 शाखाएं जहां उन्होंने अपनी तरफ से मतदान की अपील वाले मोहर बनवा कर दिए हैं।

उन्होंने कहा कि पिछले सात दिनों से यह अभियान जारी है और लोगों की अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। दुरसावत ने कहा कि स्वीप के तहत चलाया जा रहा यह अभियान मतदान के एक हफ्ते पहले और तेज किया जाएगा। जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि बैंकों के अलावा उत्तर-पश्चिम जिले के सभी खान-पान की दुकानों, व्यापारिक संस्थानों को निर्देश दिया गया है कि वह अपने यहां के पर्चों (रसीद) पर मतदान की अपील वाली मोहर लगाएं। उन्होंने कहा कि उत्तर-पश्चिम जिला एक बड़ा संसदीय क्षेत्र हैं जहां कच्ची कॉलोनियों से लेकर पॉश कॉलोनियों, बड़े व्यापारिक संस्थानों सहित हर वर्ग के मतदाता हैं।

उत्तर-पश्चिम दिल्ली में शहरी और उच्च वर्ग के मतदाताओं को मतदान के लिए प्रेरित करने के लिए रविवार को साइकिल रैली का भी आयोजन किया गया था। उत्तर-पश्चिम संसदीय क्षेत्र में मतदाताओं की सबसे ज्यादा संख्या है। यहां कुल 2371636 मतदाता हैं। पुरुष मतदाताओं की संख्या 1301493 और महिला मतदाताओं की संख्या 1069972 है। यहां किन्नर मतदाताओं की संख्या भी अन्य संसदीय क्षेत्रों से ज्यादा है। यहां कुल 171 किन्नर मतदाता नामांकित हैं, जबकि पूरी दिल्ली में 782 किन्नर मतदाता नामांकित हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App