ताज़ा खबर
 

एक के बाद एक चुनाव नहीं जीत सकते: अरविंद केजरीवाल

पंजाब और गोवा में पहले सरकार बनाने का दावा कर रही आप को लेकर लोगों की उम्मीदें बढ़ गई थीं। लेकिन चुनावों के नतीजे दावों के एकदम उलट आए और केजरीवाल ने ईवीएम पर भी सवाल उठाए।

Author नई दिल्ली | March 19, 2017 1:21 AM
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पंजाब और गोवा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) के खराब प्रदर्शन से हतोत्साहित पार्टी कार्यकर्ताओं का मनोबल शनिवार को ऊंचा करने की कोशिश की और उनसे आगामी एमसीडी चुनाव के लिए कमर कसने का आह्वान किया। गौरतलब है कि पंजाब और गोवा में पहले सरकार बनाने का दावा कर रही आप को लेकर लोगों की उम्मीदें बढ़ गई थीं। लेकिन चुनावों के नतीजे दावों के एकदम उलट आए और केजरीवाल ने ईवीएम पर भी सवाल उठाए। चुनाव के बाद फेसुबक पर अपने कार्यकर्ताआें के साथ संवाद में केजरीवाल ने कहा कि एमसीडी चुनाव में पार्टी ‘स्वच्छ दिल्ली’ एवं उसे लंदन एवं पेरिस की तरह बेदाग एवं सुंदर बनाने और नगर निकायों में भ्रष्टाचार खत्म करने एवं ‘स्वराज’ लाने पर बल देगी।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘यदि हमारे जैसी ईमानदार पार्टी एमसीडी चुनाव जीतती है तो हम दिल्ली को स्वच्छ बनाएंगे और शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्रों में और सुधार करेंगे’। उन्होंने कार्यकर्ताओं से देशभर में बूथ के स्तर के संगठन बनाने और दिल्ली सरकार द्वारा किए गए कामों का प्रचार करने का भी आह्वान किया। उन्होंने कहा, ‘हम चुनाव दर चुनाव जीतने एवं क्षेत्रों पर कब्जा करने वाले नेपोलियन थोड़े ही हैं। हम यहां राष्ट्र के विकास के लिए हैं’।  उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं के जज्बे को सलाम किया और कहा ‘आपने सच्चाई के मार्ग पर कदम रखा है और यह मार्ग कांटों से भरा है। लेकिन आखिर में सच्चाई की जीत होगी’।

पंजाब में लालबत्ती पर कैप्टन के फैसले को बताया अपनी जीत

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सरकारी वाहनों की बत्ती पर प्रतिबंध लगाने के पंजाब सरकार के कदम के लिए श्रेय लेने की कोशिश करते हुए कहा कि आप की नई राजनीति की बदौलत यह फैसला किया गया। केजरीवाल ने कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत में कहा, ‘आप ने निश्चित तौर पर राजनीति बदल दी। कैप्टन अमरिंदर ने लाल बत्ती से मना कर दिया और वे लोकपाल चाहते हैं। हमने इसे शुरू किया, हमें खुशी है कि वह इसे कर रहे हैंं। अगर वे पहले लोकपाल ले आते तो अब हम राजनीति में नहीं होते’। केजरीवाल ने पंजाब में पार्टी के खराब प्रदर्शन के बाद कार्यकर्ताओं से बात कर उनका मनोबल बढ़ाया। पार्टी को राज्य में अपेक्षा से बहुत कम 20 सीटें मिलीं और गोवा में खाता नहीं खुल सका।

 

पंजाब में हार पर अरविंद केजरीवाल बोले- "हमारे वोट SAD-BJP को ट्रांसफर हुए, EVM की जांच हो"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App