ताज़ा खबर
 

लाइसेंस हासिल करने के लिए केजरीवाल की बेटी ने की रिश्वत की बात!

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने रविवार को दावा किया कि आम आदमी पार्टी के सत्ता में आने के बाद भ्रष्टाचार में 70-80 प्रतिशत तक की कमी आयी है। इसके साथ ही उन्होंने जिक्र किया कि किस प्रकार उनकी बेटी ने अपना ड्राइविंग लाइसेंस हासिल करने के क्रम में एक अधिकारी को रिश्वत की पेशकश कर उसकी परीक्षा ली।

Author May 18, 2015 3:25 PM
सीएम केजरीवाल की बेटी ने अधिकारी को जांचने के लिए की रिश्वत को पेशकश (फोटो: भाषा)

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने रविवार को दावा किया कि आम आदमी पार्टी के सत्ता में आने के बाद भ्रष्टाचार में 70-80 प्रतिशत तक की कमी आयी है। इसके साथ ही उन्होंने जिक्र किया कि किस प्रकार उनकी बेटी ने अपना ड्राइविंग लाइसेंस हासिल करने के क्रम में एक अधिकारी को रिश्वत की पेशकश कर उसकी परीक्षा ली।

केजरीवाल ने बाहरी दिल्ली के बुराड़ी में एक जनसभा में आटोरिक्शा चालकों को संबोधित करते हुए कहा कि मैं यह नहीं कहूंगा कि हमने दिल्ली में भ्रष्टाचार को पूरी तरह से समाप्त कर दिया है। लेकिन इसमें 70-80 प्रतिशत तक की कमी आयी है। चुनाव में पार्टी के लिए भ्रष्टाचार एक प्रमुख मुद्दा था। पांच अप्रैल को आप सरकार ने फिर से भ्रष्टाचार विरोधी हेल्पलाइन 1031 शुरू की थी। हेल्पलाइन पर 1.25 लाख से ज्यादा काल आ चुके हैं।

इस क्रम में केजरीवाल ने अपनी बेटी के लर्नर ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करने के अनुभव का जिक्र किया और किस प्रकार उनकी बेटी को पता लगा कि अधिकारी अब रिश्वत को लेकर सजग हैं। उन्होंने कहा कि मेरी बेटी अपना लर्नर ड्राइविंग लाइसेंस लेने के लिए गयी थी।

मैं विभाग को कह सकता था और अधिकारी मेरे लिए ऐसा कर सकते थे। लेकिन मेरी बेटी कार्यालय गयी और अपनी बारी आने की प्रतीक्षा की। उन्होंने अधिकारी से (अपनी पहचान का खुलासा किए बिना) कहा कि वह एक जरूरी प्रमाणपत्र लेकर नहीं आयी है और अधिकारी ने लाइसेंस बनाने से इंकार कर दिया।

केजरीवाल ने कहा कि उनकी बेटी ने अधिकारी की परीक्षा लेने के लिए पैसे की पेशकश की और अधिकारी ने उसका फोन देखना शुरू कर दिया कि कहीं वह वीडियो तो नहीं बना रही। उन्होंने कहा कि उनकी बेटी जोर देती रही कि यह उसके लिए जरूरी है और वह पैसे देने को तैयार है लेकिन अधिकारी ने इंकार कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App