ताज़ा खबर
 

अरविंद केजरीवाल ने वीरेंद्र सहवाग को बताया ‘गरीब किसान’, इन फोटोज से साधा निशाना

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रामजस कॉलेज वाले मामले पर क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग को घेरने के लिए रीट्वीट किया।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सहवाग पर निशाना साधा।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रामजस कॉलेज वाले मामले पर क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग को घेरने के लिए रीट्वीट किया। इसके लिए केजरीवाल ने नरेंद्र मोदी और वीरेंद्र सहवाग की एक पुरानी फोटो का इस्तेमाल किया। फोटो में वीरेंद्र सहवाग और नरेंद्र मोदी को हाथ मिलता हुए दिखाया गया है। जिस फोटो को अरविंद केजरीवाल ने रीट्वीट किया उसमें लिखा है, ‘घृणा की ट्विटर पर जुताई करने के लिए एक गरीब किसान को कमर्शल स्कूल के लिए फ्री में जमीन मिलती हुई। जिस स्कूल की फीस 3.5 लाख रुपए है।’

इससे पहले भी केजरीवाल ने एक फोटो पोस्ट की थी। उस फोटो में वीरेंद्र सहवाग पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ से मुलाकात कर रहे थे। फोटो के साथ कैप्शन में लिखा था, ‘मेरा हाथ कारगील युद्ध करवाने वाले के साथ मिल रहा है, मैं नहीं।’

दरअसल, दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज में हो रहे विवाद मामले पर सहवाग ने ट्वीट किया था। फोटो में वीरेंद्र सहवाग लिखा- बैट में है दम! #BharatJaisiJagahNahi. सहवाग की तख्ती पर लिखा था- “मैंने दो ट्रिपल सेंचुरी नहीं बनाई है, मेरे बैट ने ऐसे किया।” इस ट्वीट पर वीरेंद्र का काफी लोगों ने समर्थन किया वहीं कई लोग भड़क भी गए। वीरेंद्र के ट्वीट पर गुरमेहर कौर भी भड़क गई थीं। उन्होंने कहा था कि ‘मुझे मिल रही नफरत को और भड़काने के लिए मैं वीरेंदर सहवाग का धन्‍यवाद करती हूं।

इस मामले पर उमर खालिद ने भी वीरेंद्र सहवाग पर निशाना साधा। उमर खालिद ने अपने फेसबुक अकाउंट पर लिखा, ‘वीरेंद्र सहवाग BCCI के लिए खेलते थे, उन्होंने भारत को कभी रीप्रेजेंट नहीं किया। जो हजारों स्टूडेंट आज दिल्ली यूनिवर्सिटी में पहुंचे थे वे लोग भारत का प्रतिनिधित्व करते हैं। नए भारत को बनाने के लिए समानता, न्याय और आजादी की जरूरत है।’

अरविंद केजरीवाल ने इन ट्वीट्स को रीट्वीट किया 

बाकी ताजा खबरों के लिए क्लिक करें 

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App