ताज़ा खबर
 

मोहल्ला क्लीनिक से आप कार्यकर्ताओं की जेब को फायदा: अजय माकन

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन और अन्य लोगों की इन मोहल्ला क्लीनिकों को स्थापित करने में इनकी भूमिका की जांच भी की जाए।
Author नई दिल्ली | September 22, 2016 04:07 am
अजय माकन ने कहा कि कांग्रेस 17 सितंबर से पेट्रोल पंपों पर हस्ताक्षर अभियान शुरू करेगी

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने आरोप लगाया है कि आम आदमी पार्टी (आप) की दिल्ली सरकार ने नियमों को ताक पर रखते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं की जगहों पर अनाप-शनाप किराया देकर दिल्ली की जनता की खून-पसीने की कमाई से मोहल्ला क्लीनिक खोले। माकन ने बुधवार को केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) को पत्र लिखकर इन मोहल्ला क्लीनिकों को किराए पर दिए जाने के विषय में जांच के लिए कहा। उन्होंने आयोग से कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन और अन्य लोगों की इन मोहल्ला क्लीनिकों को स्थापित करने में इनकी भूमिका की जांच भी की जाए। इन क्लीनिकों को किराए पर देते समय केंद्रीय सतर्कता आयोग की 8 जुलाई 1999 के दिशा-निर्देश की अवहेलना की गई है। वे गुरुवार को इस पर और खुलासा करने वाले हैं।

प्रदेश कार्यालय में पत्रकारों से माकन ने कहा कि आम आदमी पार्टी जो राजनीति में ईमानदारी और पारदर्शिता की बात किया करती थी, उसने सत्ता में आते ही केंद्रीय सतर्कता आयोग के 8 जुलाई 1999 के दिशानिर्देश की अनदेखी कर बाजार से ज्यादा दर देकर अपनी पार्टी के पदाधिकारियों व रिश्तेदारों की जगहों पर 105 मोहल्ला क्लीनिक खोल डाले। जबकि 1999 के दिशानिर्देश में कहा गया था कि जब कभी भी नए व्यावसायिक/आवासीय जगहों को लीज/किराए या किसी अन्य पर लिया जाएगा तो स्थानीय और राष्टÑीय अखबारों जिनका वितरण ज्यादा है उनमें विज्ञापन दिए जाएंगे। दिशानिर्देश में यह भी कहा गया था कि विज्ञापन में जगह का क्षेत्रफल और दूसरी अन्य शर्तें जो टेंडर में होंगी उनका भी जिक्र किया जाएगा।

माकन ने उदाहरण देते हुए कहा कि एक मोहल्ला क्लीनिक जो प्लॉट न. बी-314, विकास नगर, विकास विहार में स्थापित है वह आप के निगम पार्षद अशोक सैनी की जगह पर है। इस जगह की बाजार दर 5000 रुपए है जबकि सरकार 18000 रुपए खर्च कर रही है। बड़े ही आश्चर्य की बात है कि दो डिस्पेंसरी इस मोहल्ला क्लीनिक के आधा किलोमीटर की दूरी पर पहले से ही स्थित हैं। इस तरह आप सरकार लगभग 2 करोड़ रुपए प्रति वर्ष सिर्फ किराए के रूप में इन मोहल्ला क्लीनिकों के ऊपर खर्च कर रही है जिसका सीधा फायदा आप के कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों को हो रहा है। और जब दिल्ली में 1000 मोहल्ला क्लीनिक खुल जाएंगे तो लगभग 20 करोड़ रुपए सालाना किराए पर खर्च होगा। यह कार्यकर्ताओं व नेताओं की जेब में जाएगा। उन्होंने कहा कि अगर मोहल्ला क्लीनिक सही से काम कर रहे होते तो आज दिल्ली के लोगों को चिकनगुनिया व डेंगू जैसी बीमारियों से जूझना नहीं पड़ता।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. P
    pradeep
    Sep 22, 2016 at 11:37 am
    ये सब आप हैं
    (0)(0)
    Reply