ताज़ा खबर
 

दिल की डॉक्टर बनना चाहती हैं अव्वल एलिजा

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की एमबीबीएस प्रवेश परीक्षा में 100 फीसद अंकों के साथ अव्वल आर्इं एलिजा बंसल का सपना कार्डियोलाजिस्ट बनने का है।

Author नई दिल्ली, 18 जून। | June 19, 2018 6:27 AM
संगरूर जिले की 17 साल की एलिजा डॉक्टर देवराज डीएवी पब्लिक स्कूल की छात्रा हैं

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की एमबीबीएस प्रवेश परीक्षा में 100 फीसद अंकों के साथ अव्वल आर्इं एलिजा बंसल का सपना कार्डियोलाजिस्ट बनने का है। 100 फीसद अंक हासिल करने वाले शुरू के चार टॉपरों में तीन लड़कियां व एक लड़का शामिल हैं। संगरूर जिले की 17 साल की एलिजा डॉक्टर देवराज डीएवी पब्लिक स्कूल की छात्रा हैं। उन्होंने बताया कि वे परीक्षा की तैयारी के लिए हफ्ते के आखिर में डेढ़ घंटे का सफर कर पटियाला कोचिंग के लिए जाती थीं। वे अपने इलाके में डॉक्टरों की कमी की भरपाई करना चाहती है। बंसल ने कहा कि पिछड़े इलाके से होने के बावजूद उन्हे परिवार का पूरा सहयोग मिला जिसके कारण उन्होंने यह मुकाम हासिल किया।

रमणीक कौर ने दूसरा स्थान हासिल किया जबकि महक अरोड़ा ने तीसरी रैंक पाई। महक ने बताया कि उन्होंने अपने पिता की असामयिक मौत से आहत होकर डॉक्टर बनने की ठानी। बतौर महक वे सातवीं कक्षा में थीं तब उनके पिता की दांत में दर्द व इसके इलाज के दौरान मौत हो गई थी। महक डॉक्टर बन पंचकूला के लोगों की सेवा करना चाहती है। मनराज सिंह ने चौथा स्थान हासिल किया। इक्ष्वाक अग्रवाल ने 10वां व सागर मिश्र ने 15वां स्थान हासिल किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App