ताज़ा खबर
 

छात्रा ने की आत्महत्या: बचाव में स्कूल प्रिंसिपल बोले- महिला टीचर कैसे कर सकती है यौन उत्पीड़न

नोएडा के एसपी सिटी ने कहा है कि गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान में कई बच्चे फेल हुए थे। इसलिए हम ये नहीं कह सकते हैं कि बच्ची को जानबूझकर फेल किया गया था या फिर उसके उत्तर पास इस तरह नहीं थे कि पास करने लायक अंक मिल सके। इसकी जांच एक्सपर्ट कमेटी करेगी

स्कूल के प्रिंसिपल ने कहा कि बच्चों के नंबर पीटीएम में दिये जाते हैं, लेकिन उसके माता-पिता पीटीएम में आते ही नहीं थे, वो फेल नहीं हुई थी, उसने रि-टेस्ट दिया था।

दिल्ली के एल्कॉन पब्लिक स्कूल के बाहर छात्रा की खुदकुशी के मामले में प्रदर्शन जारी है। छात्रा के माता-पिता मामले की जांच सीबीआई से करवाने की मांग कर रहे हैं। छात्रा के माता- पिता ने दावा किया कि दो शिक्षकों ने उसका‘ यौन उत्पीड़न’ किया था। हालांकि स्कूल के प्रिंसिपल ने इस मामले में सफाई देते हुए कहा है कि जिन शक्षकों पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया गया है कि उनमें से एक महिला है आखिर वो किसी का यौन शोषण कैसे कर सकती है। स्कूल प्रिंसिपल ने कहा, “जिन शिक्षकों के खिलाफ आरोप लगाया गया है उनमें से एक महिला है, वह कैसे किसी के साथ ऐसा कर सकती है? दूसरे शिक्षक 25 साल से स्कूल में हैं और हमें उनके बारे में कोई शिकायत नहीं मिली है।” बता दें कि मंगलवार को नौवीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा ने नोएडा स्थित अपने आवास पर फांसी लगाकर कथित तौर पर खुदकुशी कर ली। उसके परिवार वालों ने दो शिक्षकों पर यौन उत्पीड़न और जानबूझ कर कम नंबर देने का आरोप लगाया है।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Gold
    ₹ 25900 MRP ₹ 29500 -12%
    ₹4000 Cashback
  • Moto Z2 Play 64 GB (Lunar Grey)
    ₹ 14640 MRP ₹ 29499 -50%
    ₹2300 Cashback

स्कूल प्रिंसिपल ने कहा कि हमें बच्ची की मौत का दुख है और हम इस घड़ी में परिवार वाले के साथ हैं। स्कूल प्रिंसिपल ने कहा कि अगर मैं उसका रिकॉर्ड देखता हूं तो पता चलता है कि वह एक सामान्य छात्रा थी, और वह पढ़ाई में उतनी अच्छी नहीं थी लेकिन डांस में बेजोड़ थी। उन्होंने कहा, “बच्चों के नंबर पीटीएम में दिये जाते हैं, लेकिन उसके माता-पिता इसमें आते ही नहीं थे, वो फेल नहीं हुई थी, उसने रि-टेस्ट दिया था।”

वहीं बच्ची के परिवारवालों ने कहा कि इस मामले में अबतक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। लड़की के पिता का कहना है कि क्या हमारे बेटी उत्पीड़न के बारे में झूठ बोलेगी। उन्होंने मामले की सीबीआई जांच की मांग करते हुए कहा, “क्या पुलिस दबाव में है, या फिर उन्होंने रिश्वत ले ली, मैं अपनी बेटी के लिए इंसाफ चाहता हूं, सीबीआई जांच चाहता हूं।” वहीं नोएडा के एसपी सिटी ने कहा है कि गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान में कई बच्चे फेल हुए थे। इसलिए हम ये नहीं कह सकते हैं कि बच्ची को जानबूझकर फेल किया गया था या फिर उसके उत्तर पास इस तरह नहीं थे कि पास करने लायक अंक मिल सके। इसकी जांच एक्सपर्ट कमेटी करेगी, इस मामले में जांच जारी है। बता दें कि छात्रा को सामाजिक विज्ञान और विज्ञान विषय में छात्रा को कंपार्टमेंट आया था। वहीं दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इस मामले की शिक्षा विभाग से जांच कराने की घोषणा की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App