दिल्ली हाईकोर्ट का आदेश- गाली-गलौज करने वाले वयस्क बच्चों को घर से निकाल सकते हैं मां-बाप

साल 2007 के एक कानून में इस बात का प्रावधान है जिसके तहत राज्य सरकार पर यह छोड़ दिया गया कि वे वरिष्ठ नागरिकों के जान-माल की रक्षा के लिए नियम बनाएं।

Author Updated: March 19, 2017 9:22 PM
AAP, Delhi, Delhi High Court, Buss, Purchase Buses, Delhi High Court on Buses, AAP Government, War Level, Buses to Be Purchased, DTC, Delhi High Court on Pollution, DTC Buses, Buss in Delhi, State newsदिल्ली उच्च न्यायालय ने कहा कि सभी प्राधिकारों ने विचार दिया है कि वायु प्रदूषण की बड़ी वजह गाड़ियां हैं।

दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा है कि अगर वयस्क बच्चे अपने बुजुर्ग मां-बाप के साथ अभद्र व्यवहार करते हैं तो उनको घर से निकाला जा सकता है। जस्टिस मनमोहन ने अपने आदेश में स्पष्ट किया कि संतान को घर से निकालने के मामले में यह जरूरी नहीं है कि घर उन्होंने खुद बनाया हो अथवा उसके मालिक मां-बाप हों। अदालत ने कहा, ‘जब तक मां-बाप के पास संपत्ति पर कानूनी अधिकार है तो वे गाली-गलौज करने वाले अपने वयस्क बच्चों को घर से बाहर निकाल सकते हैं। यहां तक कि अदालतों ने बार-बार यह कहा है कि वरिष्ठ नागरिकों अथवा मां-बाप को शांतिपूर्ण ढंग से और सम्मान के साथ रहने का अधिकार है।’

साल 2007 के एक कानून में इस बात का प्रावधान है जिसके तहत राज्य सरकार पर यह छोड़ दिया गया कि वे वरिष्ठ नागरिकों के जान-माल की रक्षा के लिए नियम बनाएं। अदालत का यह आदेश नशे के आदी एक पूर्व पुलिसकर्मी एवं उसके भाई की ओर से दायर अपील पर आया है। इन दोनों ने रखरखाव न्यायाधिकरण के अक्टूबर, 2015 के आदेश को चुनौती दी थी जिसमें उन्हें उनके माता-पिता के मकान से बाहर निकलने के लिए कहा गया था।

Next Stories
1 ट्रेन में 14 साल पहले गायब हुए थे कीमती सामान और गहने, अदालत ने कहा- लापरवाही के लिए रेलवे को देना होगा 1.34 लाख मुआवजा
2 जाट आंदोलन: दिल्ली से सटे हरियाणा के जिलों में इंटरनेट सेवा ठप, मुख्यमंत्री खट्टर ने जाटों को बातचीत के लिए दिल्ली बुलाया
3 एमसीडी चुनाव प्रचार के लिए अपनी आवाज में थीम सॉन्ग लॉन्च करेंगे मनोज तिवारी, पूर्वांचली वोटरों को रिझाने की कोशिश
ये पढ़ा क्या?
X