ताज़ा खबर
 

रामजस हिंसा: टीचर और पत्रकारों को पीटने का आरोपी सतेंद्र अवाना कर रहा है एबीवीपी के प्रदर्शनों को लीड

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ का पूर्व अध्यक्ष सत्येंद्र अवाना का एक पुराना वीडियो सामने आया है जिसमें अवाना एक महिला शिक्षक को बुरी तरह धमका रहे हैं।

सतेन्द्र अवाना को 2015-16 में दिल्ली यूनीवर्सिटी के छात्रसंघ का अध्यक्ष चुना गया था। अवाना पर कई आरोप हैं। (Photo source- Indian Express)

दिल्ली यूनिवर्सिटी  के रामजस कॉलेज के सेमीनार में उमर खालिद को बुलाने को लेकर विवाद शुरु हो गया था। उमर खालिद का विरोध करने वालों में भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कार्यकर्ता रहे। एबीवीपी) के कार्यकर्ताओं का नेतृत्व कर रहे हैं 24 साल के सतेन्द्र अवाना। सतेन्द्र अवाना को 2015-16 में दिल्ली यूनीवर्सिटी के छात्रसंघ का अध्यक्ष चुना गया था। उनका कार्यकाल विवादों से भरा रहा है। अवाना पर पिछले साल श्री राम कॉलेज के दो टीचरों को पीटने का आरोप लगा। जिसके बाद उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। पिछले साल उन पर दो पत्रकारों का धमकाने का भी आरोप लगा। इन दिनों एक वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो रहा है जिसमें दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष सत्येंद्र अवाना खुलेआम एक महिला शिक्षक, जो डीन भी है, को धमका रहे हैं। महिला प्रोफेसर के साथ अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल भी कर रहे हैं। ये सब पुलिस की मौजूदगी में हो रहा है। इस वीडियो के बारे में अवाना का कहना है कि ये वीडियो एडिट किया है इस वीडियो में छात्रों के हित की बात नहीं दिखाई गई।

कहने को तो छात्र संगठन एबीवीपी का नारा है- एकता, ज्ञान, शील। इस वीडियो को देखने के बाद आपको ना तो एकता दिखेगी ना शील और ज्ञान की तो बात नजर नहीं आएगी। वीडियो में अवाना ने महिला प्रोफेसर को कहा कि,” ये आप के बाप की मछली है या किसी और के बाप की मछली है।… आपने क्या सोचकर बुलाया इनको(पुलिस) इस पर महिला ने कहा कि मैंने ये सोच कर बुलाया कि आप हिंसा करोगे। इस पर अवाना ने कहा कि आतंकवादी हैं हम? मुझे नहीं पता बिना पुलिस के हमने कब हिंसा किया है। इस पर महिला प्रोफेसर ने कहा कि आप कैसे बात कर रहे तो अवाना ने कहा कि – क्यों राष्टपति है, विक्टोरिया हैं। इस पर डीन ने कहा कि अगर आपका ये तरीका है बात करने का तो… अवाना ने कहा- अब तरीका दिख रहा है बात करने का। कल लाठीचार्ज करा दी तेरे बाप का…अगर तू सोच रही है कि तू अकलमंद हो तो सारे अकलमंद हैं यहां। बुद्धि मत लगाना ज्यादा, सबको एडमिट कार्ड मिलेगा। या तो अपना भविष्य खराब करके जाएगी या जहां पहुंचगी वहां का खराब हो जाएगा। धमकी समझ लेना इसे या कुछ समझ लेना।’

इस पर एक दूसरी महिला टीचर ने कहा कि बेटा स्टूडेंट हो, इस पर अवाना ने कहा कि मैम हम स्टूडेंट नहीं है। इन्होंने सम्मान खो दिया महिला होने का। ये सब पुलिस की मौजूदगी में होता रहा और पुलिस मूकदर्शक बनकर देखती रही। किसी भी पुलिस वाले ने कुछ नहीं बोला।

अवाना पर कुछ दिन पहले AISA के छात्र प्रीतीश मेनन ने मारपीट करने का आरोप भी लगाया था ट्विटर पर मेनन ने लिखा कि, ‘सतेन्द्र अवाना ने इंडिया न्यूज़ टीवी स्टूडियो के बाहर मुझे मारा क्योंकि, मैंने ABVP के खिलाफ बहस में हिस्सा लिया था और मैंने ऐसा प्रजातंत्र के लिए किया था।’

रामजस कॉलेज विरोध प्रदर्शन: उमर खालिद का सेमिनार रद्द होने पर भिड़े ABVP, AISA के कार्यकर्ता

दिल्ली: रामजस कॉलेज में ABVP-AISA के बीच हिंसक झड़प, हुई मारपीट; जानिए पूरा मामला

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App