ताज़ा खबर
 

केजरीवाल के मंत्री ने उरी अटैक को बताया भारत के खिलाफ WAR, कहा- दुश्मनों को घर में घुसकर मारने का वक्त आ गया है

दिल्ली के जल संसाधन मंत्री कपिल मिश्रा ने कहा कि एक राजनेता की मृत्यु पर हम शोक मानते हैं। तिरंगा झुकाते हैं। 26 सालों में पहली बार इतने सैनिक शहीद हुए, राष्ट्रीय शोक घोषित कीजिए।
Author नई दिल्ली | September 18, 2016 17:53 pm
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो)

जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में आतंकियों द्वारा सेना मुख्यालय पर किए गए हमले को लेकर दिल्ली सरकार के मंत्री तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि हमला करने वालों के समूल नाश का समय आ गया है। साथ ही उन्होंने 17 जवानों के शहीद होने पर राष्ट्रीय शोक घोषित करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि दुश्मनों को घर के अंदर घुस के मारने का समय आ गया है। रविवार की सुबह हुए हमले में 17 जवान शहीद हो गए जबकि 4 आतंकियों को भी सेना ने मार गिराया है।

दिल्ली के जल संसाधन मंत्री कपिल मिश्रा ने कहा कि एक राजनेता की मृत्यु पर हम शोक मानते हैं। तिरंगा झुकाते हैं। 26 सालों में पहली बार इतने सैनिक शहीद हुए, राष्ट्रीय शोक घोषित कीजिए। बीजेपी सरकार और रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर पर निशाना साधते हुए कपिल मिश्रा ने अगले ट्वीट में कहा, क्या इस हमले और इतने सारे सैनिको की शहादत के लिए कोई जिम्मेदारी तय होगी। क्या बयान बहादुर रक्षा मंत्री अभी भी कुर्सी से चिपके रहेंगे? उन्होंने कहा कि ये आतंकी हमला नहीं है, ये भारत के खिलाफ युद्ध है। दुश्मनों को घर में घुसकर मारने का समय है। युद्ध का घोष जरुरी है।

AAP नेता ने जम्मू-कश्मीर में हुए आतंकी हमलों को लेकर कड़े शब्दों का इस्तेमाल करते हुए कहा कि हमले का बदला लेना ही होगा। जिन्होंने ये हमला करवाया है उनका समूल नाश करने का वक्त आ गया है। उरी हमले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सख्त रवैया अपनाते हुए देश को आशवस्त किया है कि इस आतंकी हमले के पीछे के लोगों को बख्शा नहीं जाएगा।

हमले के पीछे आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का हाथ होने की बात सामने आ रही है। इन हमलों के बारे में डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल रनबीर सिंह ने बताया कि उरी हमले के पीछे विदेशी आतंकियों का हाथ है। शुरुआती रिपोर्ट जैश ए मोहम्‍मद के शामिल होने का इशारा करती है। 4 आतंकियों के मारे जाने की जगह से चार एके-47, 4 अंडर बैरल ग्रेनेड लॉन्‍चर्स और काफी सामान बरामद किया गया है। टैंट में आग के चलते 13-14 लोग मारे गए। इस संबंध में पाकिस्‍तानी सेना के डीजीएमओ से भी बात की गई है। आतंकियों के पास से जो सामान बरामद हुआ है उस पर पाकिस्‍तान के निशान हैं। डीजीएमओ ने भरोसा जताया कि भारतीय सेना मुंहतोड़ जवाब देगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.