लालू-केजरीवाल दोस्ती के खिलाफ कुमार विश्वास ने खोला मोर्चा- AAP Not Teaming up With Lalu Prasad Yadav's RJD For Bihar Elections, Says Kumar Vishwas - Jansatta
ताज़ा खबर
 

लालू-केजरीवाल दोस्ती के खिलाफ कुमार विश्वास ने खोला मोर्चा

सूबे के मुख्यमंत्री व आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल की राजद अध्यक्ष लालू यादव के परिवार व पार्टी से बढ़ती नजदीकियों को लेकर पार्टी में घमासान शुरू हो गया है।

Author नई दिल्ली | December 1, 2017 2:31 AM
केजरीवाल और लालू गले मिलते (FILE PIC)

सूबे के मुख्यमंत्री व आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल की राजद अध्यक्ष लालू यादव के परिवार व पार्टी से बढ़ती नजदीकियों को लेकर पार्टी में घमासान शुरू हो गया है। आप के संस्थापकों में से एक कुमार विश्वास ने आप और राजद में किसी किस्म के चुनावी गठबंधन की पुरजोर मुखालफत करते हुए कहा है कि जब तक आप में उनके जैसा एक भी संस्थापक सदस्य बचा है, ऐसी किसी राजनीतिक साझेदारी की इजाजत नहीं दी जाएगी। कुमार विश्वास ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि यदि मुख्यमंत्री केजरीवाल बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता व लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव से मिलते हैं तो इसमें कोई आपत्ति की बात नहीं है लेकिन यदि इस बहाने आप और राजद के बीच किसी चुनावी गठबंधन की कोशिश की जाएगी तो इसका जोरदार विरोध किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी के लालू के साथ खड़े होने का कोई सवाल ही नहीं है। दूसरी ओर राजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा ने कहा कि यह बात सच है कि बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी ने पिछले दिनों दिल्ली में मुख्यमंत्री केजरीवाल से मुलाकात की थी। इस दौरान भाजपा के खिलाफ सभी धर्मनिरपेक्ष और समान विचारों वाली पार्टियों को साथ आने की अपील की गई थी। हालांकि आप और राजद के बीच किसी चुनावी गठबंधन की बात नहीं हुई थी।

दिलचस्प यह है कि दिल्ली में आप और राजद के रिश्तों को लेकर मचे सियासी बवाल के दिन ही आम आदमी पार्टी की ओर से बिहार के नए प्रभारी बनाए गए संजय सिंह ने पटना में पार्टी कार्यकर्ताओं के संग बैठक की। इससे पहले विधायक संजीव झा बिहार का प्रभार संभालते थे लेकिन एक महीना पहले उन्हें बिहार के प्रभारी पद से हटा दिया गया। इसकी एक बड़ी वजह यह भी बताई जा रही है कि संजय सिंह के गैर भाजपाई दलों के बीच बेहतर ताल्लुकात हैं और बिहार में आम आदमी पार्टी को इसका फायदा मिल सकता है।
बता दें कि ‘जनसत्ता’ ने बीते 28 नवंबर को लालू-केजरीवाल दोस्ती को लेकर समाचार प्रकाशित किया था।

इसको लेकर ही कुमार विश्वास ने परोक्ष रूप से केजरीवाल पर हमला बोला है। बिहार में नीतीश कुमार के भाजपा में पाले जाने के बाद केजरीवाल से उनकी पुरानी दोस्ती में दरार आ गई। उसके बाद ही लालू यादव से उनकी नजदीकियां बढ़ रही हैं और माना यह जा रहा है कि लालू की दोस्ती के बहाने केजरीवाल की नजर वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ बनने वाले विपक्ष के गठबंधन का हिस्सा बनने पर भी है। राजद प्रवक्ता मनोज झा कहते हैं कि यह सच है कि केजरीवाल के अंध कांग्रेस विरोध का रवैया अब बदला है और कांग्रेस के नेता भी (दिल्ली के नेताओं को छोड़कर) केजरीवाल के प्रति नरम हुए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App