ताज़ा खबर
 

जूते खाकर भी दिल्ली के मालिक को बात समझ में क्यों नहीं आती?-कुमार विश्वास ने पंजाबी में ट्वीट कर साधा निशाना

कुमार विश्वास मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा राज्यसभा सांसद न बनाए जाने से बेहद नाराज हैं। वहीं पंजाब में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच आलाकमान के खिलाफ पनपते आक्रोश के कारण भी विश्वास ने ये तंज कसा है।

कुमार विश्‍वास और अरविंद केजरीवाल।

कभी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की परछाईं माने जाने वाले आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास आजकल उनके कठोर आलोचक माने जाते हैं। एक बार फिर से कुमार विश्वास ने ट्वीट करते हुए इशारों में अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा है। विश्वास ने इस पर हिंग्लिश और पंजाबी में ट्ववीट किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ”300 साल हो गए, दिल्ली के असुरक्षाबोध ग्रस्त अधिनायकवादी मालिकों को जूते खा-खाकर भी इत्ती सी बात समझ क्यूँ नहीं आती ? अगर पंजाबियों को सिर पर बैठाना आता है तो हाथ पकड़कर नीचे उतारना भी आता है। ”

सूत्र बताते हैं, कुमार विश्वास मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा राज्यसभा सांसद न बनाए जाने से बेहद नाराज हैं। वहीं पंजाब में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच आलाकमान के खिलाफ पनपते आक्रोश के कारण भी विश्वास ने ये तंज कसा है। डीडीसीए घोटाले के मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने तत्कालीन डीडीसीए अध्यक्ष और केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली पर गंभीर वित्तीय अनियमितता के आरोप लगाए ​थे। लेकिन बाद में जेटली ने इन आरोपों के खिलाफ पलटवार करते हुए केजरीवाल के खिलाफ मानहानि का मामला दायर करवा दिया। बाद में केजरीवाल ने इस मामले में लिखित माफी मांग ली थी।

यही नहीं अरविंद केजरीवाल में पंजाब में मुख्यमंत्री रहे बादल परिवार और उनके रिश्तेदार विक्रम सिंह मजीठिया पर पंजाब में ड्रग्स के कारोबार को चलाने का आरोप लगाया था। बाद में केजरीवाल ने इस मामले में भी मजीठिया और बादल परिवार से लिखित माफी मांग ली थी। इस पूरे वाकये ने पंजाब के आम आदमी पार्टी के नेता और कार्यकर्ताओं को नाराज कर दिया था। कई कार्यकर्ताओं ने इसके बाद अपने इस्तीफे भी केजरीवाल को भिजवाए थे। कुमार विश्वास ने पंजाब के कार्यकर्ताओं के बीच पनपते इसी अविश्वास पर अपना तंज कसा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App