ताज़ा खबर
 

करप्शन पर कांग्रेस का बोलना वैसा ही है जैसे, गब्बर सिंह अहिंसा पर भाषण दे रहा हो- AAP

अजय माकन ने कहा कि इस रिपोर्ट में कमेटी ने सीएम को भ्रष्टाचार, भाई भतीजावाद, सत्ता के दुरुपयोग का आरोपी पाया है, इसलिए उनके खिलाफ भ्रष्टाचार विरोधी कानून के तहत कार्रवाई की जाए।

शुंगलू कमेटी की रिपोर्ट जारी होने के बाद विपक्ष ने केजरीवाल सरकार पर कार्रवाई की मांग की है। (Source-PTI)

शुंगलू कमेटी की रिपोर्ट आने के बाद दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार विपक्षियों के निशाने पर है। दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने सीएम अरविंद केजरीवाल का इस्तीफा मांगा है, कांग्रेस कल दिल्ली के पूरे 272 वार्डों में काला दिवस मनाएगी। वहीं बीजेपी ने कहा है कि इस बार केजरीवाल की चालाकी नहीं चलेगी और भारतीय जनता पार्टी लोगों के सामने सरकार की कारगुजारियों को उजागर करेगी। लेकिन आम आदमी पार्टी भी आक्रामक मूड में है। गुरुवार को पार्टी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर शुंगलू कमेटी की रिपोर्ट को बकवास बताया, साथ ही कमेटी की रिपोर्ट को जारी करने के टाइमिंग पर भी सवाल उठाया।

आप नेता आशुतोष अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस पर जमकर बरसे। और कांग्रेस को अपने कार्यकाल के दौरान हुए घोटालों की याद दिलाई। आप नेता ने कहा कांग्रेस का भ्रष्टाचार पर बात करना वैसे ही जैसे गब्बर सिंह अहिंसा का पाठ पढ़ा रहा हो। आशुतोष ने संवाददाताओं से कहा, ‘जब कांग्रेस भ्रष्टाचार की बात करती है तो ऐसा लगता है कि गब्बर सिंह अहिंसा पर भाषण दे रहा हो।’ गब्बर सिंह मशहूर फिल्म शोले के खलनायक का नाम है। इस किरदार का रोल अभिनेता अमजद खान ने अदा किया था। इससे पहले कांग्रेस नेता अजय माकन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि यदि अरविंद केजरीवाल में थोड़ी भी गैरत बची है तो उन्हें तुरंत इस पद से इस्तीफा देना चाहिए। अजय माकन ने दावा किया कि आरटीआई के जरिये शुंगलू कमेटी की रिपोर्ट की एक कॉपी हासिल की है। अजय माकन ने कहा कि इस रिपोर्ट में कमेटी ने सीएम को भ्रष्टाचार, भाई भतीजावाद, सत्ता के दुरुपयोग का आरोपी पाया है, इसलिए उनके खिलाफ भ्रष्टाचार विरोधी कानून के तहत कार्रवाई की जाए।

दिल्ली के पूर्व एलजी नजीब जंग ने सितंबर 2016 में केजरीवाल सरकार के फैसलों की समीक्षा के लिए शंगलू कमेटी गठित की थी। इस समिति ने सरकार के कुल 440 फैसलों का अध्ययन किया। जबकि 36 मामलों में फैसला लंबित होने के कारण इनकी फाइलें सरकार को लौटा दी गईं। कमेटी ने पाया कि सरकार ने संवैधानिक प्रावधानों का उल्लंघन किया और नियुक्तियों में भी नियमों की अनदेखी की। शुंगलू कमेटी ने स्वास्थ्य मंत्री नरेन्द्र जैन की बेटी सौम्या को स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रोजेक्ट में नियुक्ति पर सवाल उठाया है।

"मैं संसद से माफी मांगता हूं, न कि एयर इंडिया से": शिव सेना सांसद रवींद्र गायकवाड़

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App