ताज़ा खबर
 

आप का आरोप- LG के बंगले पर हुआ अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया का अपमान

सौरभ भारद्वाज ने लिखा ‘‘यहां तक कि पाकिस्तान ने भी मोदी के साथ ऐसा बर्ताव नहीं किया जैसा कि उनके प्रतिनिधियों द्वारा मुख्यमंत्री के साथ किया जा रहा है। ’’ उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार के कनीय अधिकारियों एवं विशिष्ट अतिथियों को कार से राजनिवास के अंदर जाने दिया गया।

21 जनवरी को दिल्ली विधानसभा स्पोर्ट्स टूर्नामेंट 2018 के लिए पुरस्कार वितरण समारोह में सीएम अरविंद केजरीवाल (फोटो-पीटीआई)

आम आदमी पार्टी (आप) ने बुधवार को दावा किया कि अरविंद केजरीवाल के वाहन को दिल्ली के उपराज्यपाल के सरकारी निवास राजनिवास के अंदर नहीं जाने दिया गया और यह मुख्यमंत्री का ‘अपमान’ है। हालांकि दिल्ली पुलिस ने कहा है कि प्रोटोकॉल के अनुसार और स्थानाभाव के चलते दिल्ली सरकर के किसी भी वाहन को राजनिवास के अंदर जाने की अनुमति नहीं है। उपराज्यपाल अनिल बैजल ने मुख्यमंत्री एवं अन्य गणमान्य अतिथियों को गणतंत्र दिवस कार्यक्रम से पहले राजनिवास में ‘एट होम’ कार्यक्रम में आमंत्रित किया था। आप के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने आरोप लगाया कि दिल्ली के विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया का भी ऐसा ही अपमान किया गया था। भारद्वाज ने ट्वीट किया, ‘‘उपराज्यपाल अपने पद की गरिमा गिराने में लगे हुए हैं। निजी तौर पर इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि मुख्यमंत्री की कार रोक दी जाती है और उनके निमंत्रण पत्र की पुलिस द्वारा जांच की जाती है तथा फिर कहा जाता है कि वाहन राजनिवास में नहीं जा सकता एवं उनसे पैदल जाने को कहा जाता है। ’’

सौरभ भारद्वाज ने लिखा ‘‘यहां तक कि पाकिस्तान ने भी मोदी के साथ ऐसा बर्ताव नहीं किया जैसा कि उनके प्रतिनिधियों द्वारा मुख्यमंत्री के साथ किया जा रहा है। ’’ उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार के कनीय अधिकारियों एवं विशिष्ट अतिथियों को कार से राजनिवास के अंदर जाने दिया गया। दिल्ली पुलिस ने कहा कि राज निवास में कार्यक्रम के दौरान किसी भी अधिकारी के वाहन को अंदर जाने नहीं दिया गया था, और इस संबंध में किसी भी किस्म का आरोप आधारहीन है। दिल्ली पुलिस को जवाब देते हुए सौरभ भारद्वाज ने एक और ट्वीट किया और लिखा, ‘कृपया एलजी निवास के प्रवेश का सीसीटीवी फुटेज जारी करें, इस देश के लोगों को जानने दें कि किनकी कारें अंदर जाने दी गईं थी और किन्हें पैदल जाने को कहा गया था।’

इधर आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने भी केजरीवाल सरकार पर इस मामले को लेकर हमला बोला है। कपिल मिश्री ने लिखा है कि वीवीआईपी कल्चर का विरोध करने वाले आप नेता झूठ मूठ का गुस्सा दिखा रहे हैं। उन्होंने ट्वीट किया, ‘ बड़े गुस्सा हैं कि CM को कुछ मिनट इंतजार करना पड़ा, जरा पैदल चलना पड़ा, AAP तो VVIP कल्चर के खिलाफ थे, आम आदमी नहीं है ये?’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App